डूंगरपुर से हो कर गुजरेगी बुलेट ट्रेन वागड के लिए बहुत बडी खबर

 


नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन के दिल्ली अहमदाबाद के 886 किमी रूट के ट्रैक में उदयपुर और जयपुर भी

जिले में आठ वर्षों से चल रहे अहमदाबाद-उदयपुर आमान परिवर्तन और ब्रॉडगेज लाइन के शुरू होने के आसार के बीच एक बड़ी खबर निकल कर सामने आई है

एनएचएसआरसी ने बुलेट ट्रेन के संचालन के लिए एक हाई स्पीड ट्रेन रूट विकसित करने और दिल्ली अहमदाबाद के 886 किलोमीटर लंबे रुट के लिए 28 अगस्त को रुट और रास्ते में पड़ने वाले सभी ओवरब्रिज सहित अन्य आवश्यक बदलावों की सर्वे और उससे जुड़े डाटा कलेक्शन के लिए ऑनलाइन टेंडर जारी कर दिया है। प्राप्तजानकारीके अनुसार यह टेंडर अहमदाबाद, उदयपुर, जयपुर से दिल्ली मार्ग के लिए जारी किया गया है। अगर ऐसा होता है तो बुलेट ट्रेन डूंगरपुर से होकर गुजरेगी। अभी नेशनल हाईवे आठ डूंगरपुर से होकर गुजर रहा है। यह खेरवाड़ा मोतली मोड़ से रतनपुर बॉर्डर तक जिले की सीमा से होकर गुजरता है। वही रेलमार्ग के रूप में उदयपुर-अहमदाबाद लाइन के आमान परिवर्तन का कार्य अंतिम चरण में है। हालांकि अभी हाई स्पीड ट्रेन चलाने के लिए ट्रैक डाटा कलेक्शन का सर्वे करने के लिए ऑनलाइन टेंडर मांगे गए है लेकिन अगर दूरी को आधार बनाया जाए और डूंगरपुर रेलवे लाइन के आमान परिवर्तन का काम देख रही कंपनी के अधिकारियों की माने तो अहमदाबाद उदयपुर मार्ग में बीच की कड़ी केवल डूंगरपुर ही है, वहीं अहमदाबाद मेहसाणा, पालनपुर, सिरोही रुट 960 किमी से ज्यादा होता है।

 बुलेटट्रेन के रूट के लिए जारी टेंडर में उदयपुर वाया मार्ग प्रस्तावित है। साथ ही जारी किए गए टेंडर में अधिकतम दूरी 886 किमी है। यह डूंगरपुर मार्ग से ही संभव है। ऐसे में बुलेट ट्रेन का यह रूट डूंगरपुर जिले से हो कर गुजरेगा। अब देखने वाली बात यह है कि यह रुट नेशनल हाइवे आठ या वर्तमान रेल लाइन के सहारे से गुजरेगा या अन्य जमीन अवाप्त की जाएगी।

अहमदाबाद मुंबई के अलावा सात अन्य मार्गो पर चलेगी ट्रेन

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव के अनुसार देश की पहली बुलेट ट्रेन दिसंबर 2023 तक चलाई जानी प्रस्तावित है। जो कि अहमदाबाद से मुंबई तक चलेगी। वहीं 07 अन्य मार्गों के लिए प्रस्तावित रुट में से दिल्ली अहमदाबाद सबसे प्रमुख है।उल्लेखनीयहै कि हाईस्पीड कॉरिडोर पर बुलेट ट्रेन 300 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है।

स्टॉपेज मिला तो... डूंगरपुर से जयपुर की दूरी 2 घंटे से भी होगी

बुलेट ट्रेन के प्रस्तावित मार्ग पर निकट भविष्य में ट्रेन का संचालन होने पर डूंगरपुर से जयपुर की दूरी दो घंटे भी कम रह जाएगी। जो अभी 10 से ज्यादा घंटों में तय होती है।

ऐसे में अहमदाबाद उदयपुर जयपुर दिल्ली मार्ग के लिए बुलेट ट्रेन के डाटा कलेक्शन के लिए 06 दिन पहले जारी हुए ऑनलाइन टेंडर ने लोगों की आंखों में चमक ला दी है। हालांकि अभी ट्रेन के ठहराव को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। 

प्रस्तावित रूट में डूंगरपुर शामिल

हाई स्पीड ट्रेन कॉरिडोर अहमदाबाद दिल्ली मार्ग के लिए हमारी जयपुर उच्चाधिकारियों से कुछ दिनों पहले ही बात हुई है। ये हाई स्पीड रुट डूंगरपुर जिले की वर्तमान ब्रॉडगेज लाइन से करीब से ही गुजरेगा। इसके लिए रास्ते मे पडऩे वाले सभी घुमावदार मोड़ (कर्व) को नए सिरे से सही किया जाएगा। साथ ही नई ट्रैक के लिए पहले चरण में एरियल सर्वे सहित अन्य आवश्यक जानकारी जुटाने का काम भी शुरू होगा।

मिरल भाई, (ठेकेदार,हिम्मतनगर उदयपुर रेलवे आमान परिवर्तन) मिरल इंफ्रास्ट्रक्चर

हाई स्पीड रेल कॉरीडोर के लिए बनाया गया कॉरपोरेशन का कार्य रेलवे से अलग है, लेकिन प्रस्तावित रुट डूंगरपुर से हो कर ही गुजरेगा। इसमें कोई संदेह नहीं है। मौजूदा रुट के अलावा चार वर्ष पूर्व हाईवे के सहारे खैरवाड़ा मार्ग से होते हुए एक हाई स्पीड रुट विकसित किए जाने पर चर्चा भी हुई थी। बेहतर जानकारी हाई स्पीड ट्रेन के लिए बनाए गए निगम के अधिकारियों से ही मिल सकती है।

रामनिवास जाट, मुख्य प्रबंधक अधिकारी, डूंगरपुर रेलवे मुख्यालय






Post a Comment

0 Comments