'सावधान इंडिया' देख बेटे ने बनाई अपने ही पिता के हत्या की योजना, ये कारण आया सामने

 

उदयपुर: जिस पिता की अंगुली पकड़ कर बच्चे चलना सीखते है शायद ही उस पिता की हत्या (Murder) करने का खयाल किसी बेटे-बेटी के मन मे आए, लेकिन उदयपुर की सुखेर थाना पुलिस ने एक ऐसे है सनसनी खेज मामले का खुलासा किया है । जिसने एक कलयुगी बेटे ने अपने पिता की हत्या करने का प्लान तैयार किया और फिर अपने दोस्त की सहायता से अपने इस कुकृत्य को अंजाम तक पहुंचाने की योजना तैयार की ।

दरअसल गत 14 अक्टूबर को उदयपुर के कविता गांव के पास स्कूल शिक्षक राकेश पालीवाल पर एक युवक ने जानलेवा हमला कर दिया था । सुखेर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जब कार्यवाइ की तो इसमे सनसनी खेज मामला सामने आया । शिक्षक पालीवाल पर हुए जानलेवा हमले के मामले में पुलिस ने पीड़ित के ही बेटे अंकित और उसके एक अन्य साथी निखिल जैन को गिरफ्तार किया है । पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने मामले में चौकाने वाले खुलासे किए हैं । सुखेर थानाधिकारी डीपी दाधिच ने बताया कि अंकित और निखल रेस्टोरेंट (Restaurant) खोलना चाह रहे थे, लेकिन उनसे पैसे की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी । इस पर अंकित ने निखिल के साथ मिल कर अपने शिक्षक पिता राकेश पालीवाल की हत्या करने का प्लान तैयार किया । जिससे उनकी मौत के बाद अंकित को सरकारी नौकरी (Gobvernment Job) मिल जाएगी और जो पैसा मिलेगा उससे वो रेस्टोरेंट का व्यवसाय शुरू कर देंगे ।



सावधान इंडिया देख बनाई योजना
अंकित और निखिल ने अपनी साजिश को अंजाम तक पहुंचाने के लिए सावधान इंडिया (Savdhaan India) के कई एपिसोड देखे । इसके बाद उन्होंने घर से स्कूल जाते समय अपने पिता की रास्ते में रेकी की । जहां उन्होंने बेदला पुलिया के पास हत्या की वारदात को अंजाम देने का प्लान तैयार किया । क्योंकि वहां पर ऊंचे ऊंचे स्पीड ब्रेकर हैं और वाहन चालक को गाड़ी धीरे करनी पड़ती है । योजना के तहत 14 अक्टूबर को निखिल पुलिया के पास झाड़ियों में छिप गया । जब राकेश वहा पर पहुंचा और अपनी बाइक को धीमा किया तो उसने एक बड़े पत्थर से अचानक उन पर हमला कर दिया, लेकिन हेलमेट होने की वहज से राकेश को गहरी चोट नहीं लगी और वह गाड़ी से नीचे गिर गए । इसके बाद निखिल ने दूसरा पत्थर उठा कर मारा जो उनके कमर पर लगा । इस दौरान शोर मचाने पर वहां पर कुछ लोग पहुंच गए । मौका देख निखिल अपनी स्कूटी लेकर मौके से फ़रार हो गया । सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने राकेश को होस्पिटल में भर्ती करवाया और मामला दर्ज कर जांच शुरू की ।



ऐसे हुआ मामले का खुलासा
मामले की जांच कर रही पुलिस को मौके पर जमा हुए लोगों में से एक ने हमले में इस्तेमाल हुए स्कूटी के नम्बर दिए । इन्हीं नम्बरों के आधार पर पहले पुलिस निखिल तक पहुंची । पुलिस ने जब उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने इस पूरे षड्यंत्र में अंकित के शामिल होने की बात कबूल की । इस पर पुलिस ने अंकित को भी गिरफ्तार कर लिया । पुलिस मामले में दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है ।

पिता से नहीं थे अच्छे सम्बन्ध
पूछताछ में अंकित ने बताया कि उसके अपने पिता के साथ अच्छे सम्बन्ध नहीं थे । वे उसे जेब खर्च के लिए पैसे भी नहीं देते और उसकी लव मैरिज को लेकर भी नाराज थे । इन्हीं बातों को लेकर उनका अक्सर झगड़ा भी होता था । जिसके कारण उसने पैसे और सरकारी नौकरी के लिए अपने पिता की हत्या करने की योजना बनाई ।



Post a Comment

0 Comments