ओबीसी अधिकार मंच कि बैठक मे उठी अपने हक कि मांग

 



डूँगरपुर। ओबीसी अधिकार मंच की बैठक 26 दिसंबर को सरदार वल्लभभाई पटेल शिक्षण संस्थान, लीलवासा,(आसपुर) में ओबीसी अधिकार मंच के समस्त ओबीसी समाज के समस्त वर्गों की एक बैठक  कोरौना गाइडलाइन का पालन करते हुए रखी गई जिसमें डूँगरपुर, बाँसवाड़ा, उदयपुर व प्रतापगढ़ जिले के सभी ओबीसी वर्गों के लोग शामिल हुए।

बैठक में पूर्व उप जिला प्रमुख डूंगरपुर प्रेमकुमार पाटीदार जी ने बताया कि संवैधानिक प्रावधानों के तहत ओबीसी हेतु जो भी प्रयास होंगे उसमें पूर्ण रूप से मदद की जाएगी व सरकार के हर स्तर तक ओबीसी अधिकार मंच की संवैधानिक मांग को पहुंचाया जाएगा।


महिपाल पाटीदार मादलदा ने बताया कि अब ओबीसी को केवल ओबीसी वर्ग के संगठनों से जुड़ने की जरूरत है ताकि ओबीसी का हित हो सके, मेघराज जी पाटीदार नैजपुर ने अब तक पिछले 15 सालों में उनके द्वारा टीएसपी क्षेत्र में ओबीसी आरक्षण को लेकर किए गए प्रयास पर प्रकाश डाला,  हरीश जी तेली कचरिया तेली समाज के जिलाध्यक्ष ने बताया की पूरा तेली समाज ओबीसी आरक्षण के संवैधानिक मांगों का समर्थन करता है, वालजी भाई पाटीदार पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष डूंगरपुर ने बताया कि टीएसपी क्षेत्र में ओबीसी के संवैधानिक आरक्षण को लेकर सभी ओबीसी वर्ग को एकसाथ होकर मांग उठानी चाहिए व आगे सभी ओबीसी वर्ग को एक साथ आने का आव्हान किया, डूंगरपुर भावसार समाज के जिला अध्यक्ष अशोक जी भावसार ने ओबीसी वर्ग हेतु पंचायती राज सदस्य, जिला परिषद सदस्य में ओबीसी को आरक्षण देने हेतु मांग उठाई।

एडवोकेट रतन लाल गुर्जर उदयपुर ने बताया ओबीसी टीएसपी क्षेत्र की राजनीति भी बदल सकता है राजस्थान की राजनीति भी बदल सकता है और देश की राजनीति भी बदल सकता है बस जरूरत है ओबीसी के विभीषणो से सावधान रहने की।

 आगे लोकेश हिंदुस्तानी ने राजस्थान के सभी ओबीसी वर्ग के विधायकों से मिलकर टीएसपी क्षेत्र के ओबीसी वर्ग के संविधानिक मांग को बताया जाने की मांग की।

 वेलजी भाई पाटीदार ने ओबीसी को मेडिकल सेवाओं में भी आरक्षण पर बात करी

लोकेश सुथार पूंजपुर ने बताया की आगे इस हेतु सभी स्तर पर ज्ञापन दिया जाना चाहिए।

 वागड़िया पाटीदार समाज के जिलाअध्यक्ष नाथूलालजी पाटीदार ने केन्द्र की ओबीसी सूची में पाटीदार को शामिल करने की मांग रखी व टीएसपी क्षेत्र में ओबीसी आरक्षण हेतु एकता बनाने का आह्वान किया।

धर्मेंद्र  पाटीदार धावड़ी ने मामले को उच्च न्यायालय में ले जाने की बात करी,  कार्यक्रम में ओबीसी अधिकार मंच के डॉक्टर नरेश पटेल ने सभी की राय मशवरा लेकर 14 सूत्रीय मांग पत्र तैयार करा जिसे तहसील स्तर पर, उपखण्ड स्तर पर, जिला स्तर पर, संभाग स्तर पर ओबीसी अधिकार मंच के कार्यकर्ताओं व  ओबीसी वर्ग में आने वाले  सभी समाज द्वारा राज्यपाल महोदय मुख्यमंत्री महोदय राजस्थान सरकार के नाम दिया जाएगा

मंच के रामलाल जी ने बताया कि पूरे राजस्थान में जिला परिषद सदस्यों के पदों पर ओबीसी को आरक्षण है केवल बाँसवाड़ा-डुंगरपुर-प्रतापगढ़ छोड़ कर, राज्य सरकार से मांग की जाए कि इस तीन जिले में ओबीसी सीटे  जिला परिषद सदस्यों में देने की मांग की।

  बैठक को महेंद्र पाटीदार ने पाटीदार समाज को जाग्रत करने का प्रण लिया, कार्यक्रम को अशोक कुमार कलाल जोगीवाडा, राजेंद्र कुमार श्रीमाल निठाउवा गामडी, हरीश जी पाड़वा, नाथू लाल जी, अशोक शर्मा, वल्लभ पटेल ऊपर गांव, महेश पाटीदार नेजपुर,  राम जी दादा, संदीप दर्जी पूंजपुर , लाल शंकर पटेल बोकरवाड़ा, भुरा लाल पाटीदार , राजेंद्र पटेल बडलिया, पंकज तेली फलासिया, भेरू लाल प्रजापत व अन्य कई वक्ताओं ने ओबीसी समाज हेतु अपना वक्तव्य रखा।

 1. अनुसूचित क्षेत्र के अधीनस्थ सेवा में 100% स्थानीय के लिए आरक्षित किया गया जिसमें एसटी वर्ग को 45%, एससी वर्ग को 5%, सामान्य ईडब्ल्यूएस को 10% दिया जा रहा है लेकिन ओबीसी वर्ग को कोई आरक्षण नहीं दिया जा रहा है जो कि क्षेत्र में रहने वाले ओबीसी वर्ग के संवैधानिक अधिकारों का उल्लंघन है इसलिए ओबीसी अधिकार मंच अनुरोध करता है कि राज्य में ओबीसी वर्ग को मिलने वाला 21% प्रतिशत संवैधानिक आरक्षण अनुसूचित क्षेत्र के ओबीसी वर्ग हेतु बहाल करें।


2. आगामी REET भर्ती हेतु राजस्थान के पूरे राज्य में रहने वाले ओबीसी वर्ग को पात्रता में 5% की छूट गई दी गई है लेकिन अनुसूचित क्षेत्र में ओबीसी के पद नहीं होने से क्षेत्र के ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों को राज्य सरकार द्वारा ओबीसी को दी गई छूट 5% का लाभ नहीं मिल पाएगा इसलिए यह मांग की जाती है कि अनुसूचित क्षेत्र में ओबीसी वर्ग के लिए 21% संवैधानिक आरक्षण बहाल कर REET भर्ती निकाली जाए ताकि राज्य द्वारा ओबीसी को दी गई 5% छूट का लाभ क्षेत्र के ओबीसी वर्ग को मिल सके।


3.विभिन्न भर्तियों में नॉन टीएसपी क्षेत्र में ओबीसी को दी जा रही विभिन्न प्रकार की छूट (आयु,प्रतिशत,अंकों में B.Ed हेतु छूट, रीट पात्रता इत्यादि छूट) को तत्काल प्रभाव से टीएसपी क्षेत्र के ओबीसी हेतु लागू किया जाए।

 

4. राज्यसेवा/राज्य न्यायिक सेवा में अनुसूचित क्षेत्र के ओबीसी वर्ग का प्रतिनिधित्व नगण्य है इसलिए अनुसूचित क्षेत्र की ओबीसी को राज्य में राज्य सेवा व राज्य न्यायिक सेवा में दिए जा रहे हैं 21% आरक्षण में से 5% आरक्षण दिया जाए।


5. अनुसूचित क्षेत्र में ओबीसी वर्ग के कर्मचारी बहुत कम संख्या में उच्च पदों पर है और लगभग नगण्य  है, अतः मंडल आयोग की सिफारिशों को टीएसपी क्षेत्र की ओबीसी हेतु लागू किया जावे व अनुसूचित क्षेत्रों में ओबीसी वर्ग को पदोन्नति में संख्यात्मक आरक्षण दिया जाए।


6. टीएसपी क्षेत्र में अभी भी ओबीसी वर्ग के एक बहुत बड़ी संख्या कृषि क्षेत्र में कार्यरत हैं इसलिए क्षेत्र के सभी ओबीसी वर्ग के किसानों को निशुल्क कृषि कनेक्शन दिया जाए।


7. टीएसपी क्षेत्र के प्रत्येक जिला मुख्यालय पर ओबीसी वर्ग के छात्र छात्राओं हेतु एक एक छात्रावास खोला जाए।


8. टीएसपी क्षेत्र में ओबीसी वर्ग की छात्राओं को सरकार के मापदंड अनुसार कक्षा दसवीं और बारहवीं की स्कूटी योजना में शामिल किया जावे।


9. गोविंद गुरु जनजाति विश्वविद्यालय में सभी पदों पर टीएसपी क्षेत्र के अभ्यर्थियों से ही भर्ती की जाए।


10. अनुसूचित क्षेत्र के ओबीसी को जनसंख्या के अनुपात में पंचायत सदस्य, पंचायत समिति सदस्य व जिला परिषद सदस्यों में आरक्षण दिया जावे।


11. राज्य में आने वाली समस्त ओबीसी जातियों को केंद्र की ओबीसी सूची में शामिल करने हेतु राज्य सरकार द्वारा मांग केंद्र सरकार को की जावे।


12. ओबीसी जनगणना हेतु राज्य सरकार द्वारा केंद्र सरकार को पत्र लिखकर ओबीसी जनगणना की मांग की जावे।


13. अनुसूचित क्षेत्र में ओबीसी वर्ग की जनगणना की जावे।


14.  टीएसपी क्षेत्र के विस्तार के अनुपात में सभी भर्तियों के पद बड़ा जावे ।

कार्यक्रम का संचालन डेविड पटेल ने किया

अंत में आभार सरदार पटेल शिक्षण संस्थान के अध्यक्ष ताजेंग पाटीदार ने  दिया व समस्त ओबीसी जातियों को तन मन धन से टीएसपी क्षेत्र के संवैधानिक 21% आरक्षण हेतु साथ में आने का आह्वान किया ।

वागड लाईव एप्लिकेशन डाउनलोड करे

Post a Comment

0 Comments