निकाय चुनावी रंगत फ़ीकी, मतदाताओं में नही दिख रहा उत्साह अध्यक्ष को लेकर खोड़निया चिंतित अनिल आश्वस्त

 

निकाय चुनाव-2021


निकाय चुनावी रंगत फ़ीकी, मतदाताओं में नही दिख रहा उत्साह


अध्यक्ष को लेकर खोड़निया चिंतित अनिल आश्वस्त


भाजपा-कांग्रेस के नाराज़ कार्यकर्ता "कोप भवन" में


डूँगरपुर। निकाय चुनाव में चुनावी रंगत फ़ीकी नजर आ रही है जबकि मतदाताओं में उत्साह की खासी कमी दिखाई दे रही है।

सागवाडा नगर पालिका चुनावो को लें तो अध्यक्ष पद हेतु सामान्य वर्ग का होने से टिकट वितरण से पूर्व भाजपा व कांग्रेस दोनों ही दलों के खेमो में उत्साह दिखाई दे रहा था तथा अध्यक्ष पद के दावेदार अपनी-अपनी दावेदारी जता रहे थे मगर टिकट वितरण के बाद मानो ऐसा लग रहा है कि अध्यक्ष पद का उत्साह खत्म हो गया हो।

पालिका चुनाव से ठीक पहले नगर के प्रतिष्ठित सर्राफा व्यवसायी  गोवाड़िया ब्रदर्स के कुछ परिजनों ने कांग्रेस छोड़  भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली मगर टिकट वितरण में उन्हें कोई तवज्जो नही दी गई जिससे भाजपा में जाने का कोई फर्क दिखाई नही दिया।

इसी प्रकार कांग्रेस में हॉट सीट मानी जा रही वार्ड नम्बर-4 अध्यक्ष पद के दावेदार नरेंद्र खोड़निया को शहर से दूर पुनर्वास कॉलोनी जाकर चुनाव लड़ना पड़ रहा है खोड़निया समाजसेवा में हमेशा आगे रहते है और समय-समय पर हर व्यक्ति के लिए कुछ ना कुछ सहयोग करते ही है  मगर वार्ड नम्बर 4 में स्थानीय व्यक्ति का मुद्दा हावी है जैन समाज के लोग यहां निवासरत है जो अधिकतर गलियाकोट से जुड़ाव रखते है जिसमे भाजपा प्रत्याशी रविन्द्र जैन (रवि भाई) पहले भी पार्षद रह चुके है ओर समाजसेवा व हर व्यक्ति के सुख-दुःख में सदैव आगे रहते है जिससे कांग्रेस प्रत्याशी खोड़निया को खासी मेहनत की ज़रूरत पड़ेगी। इसी प्रकार जिला कांग्रेस सेवादल के जिलाध्यक्ष मनोहर कोटेड पालिका में अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदारो मेसे  एक थे मगर उन्हें टिकट नही देने से युवा वर्ग के उत्साह में कमी साफ दिखाई दे रही है कोटेड ने लॉक डाउन में जरूरतमंद लोगों को राशन वितरण सहित करीब 10 वर्षो से बैंक तिराह स्थित कांग्रेस कार्यालय में आमजन की तकलीफों का समाधान करते आ रहे है। मगर पालिका चुनाव में उन्हें टिकट नही देना कांग्रेस के लिए चिंता जनक है इसी क्रम में वार्ड नम्बर 21 में कांग्रेस से आशीष गांधी को टिकट दी गई जबकि इसी वार्ड से कांग्रेस के युवा चेहरा वैभव गोवाड़िया ने अपनी दावेदारी को लेकर पूरी मशक्कत की थी वैभव युवा कांग्रेस सागवाडा के अध्यक्ष भी रह चुके है जिससे युवाओ में उनकी खासी पकड़ है यहां से वर्तमान में आशीष गांधी को टिकट दी गई है गत 2015 के पालिका चुनावो में इस वार्ड से आशीष के पिता कुलदीप गांधी पार्षद रह चुके है जो पालिका में प्रतिपक्ष नेता भी रहे हैं। इसी वार्ड से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में पीयूष (बंटी) गुप्ता भी मैदान में होने से मुकाबला त्रिकोणीय बना हुआ है।

पालिका चुनाव की वार्ड नम्बर 14 दूसरी हॉट सीट है जहां से पालिका में अध्यक्ष के दावेदार अनिल सुथार भाजपा के प्रत्याशी है लोकप्रिय चेहरा होने के साथ मिलनसार व्यक्तित्व इनकी जीत को पक्की किए हुए हैं हालांकि उनके अधिकतर उदयपुर रहने का मुद्दा है मगर फिर भी उनकी जीत तय मानी जा रही है। कांग्रेस से प्रिंस सोनी प्रत्याशी है जो युवा है मगर अनिल के सामने काफ़ी कमजोर प्रत्याशी है।

वार्ड नम्बर 11 में  भाजपा से श्रीमतीं श्रद्धा नीरज पंचाल चुनावी मैदान में है जिनका मुकाबला कांग्रेस की श्रीमतीं मुन्नी प्रदीप जोशी से है जबकि निर्दलीय श्रीमतीं सुशीला के मैदान में होने से त्रिकोणीय मुकाबला है, श्रीमतीं श्रद्धा के पति नीरज भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष रह चुके है इसी वार्ड से उनके पिता रतिलाल पँचाल भी पार्षद रह चुके है जबकि मुन्नी देवी वार्ड का नया चेहरा है जिनके पति प्रदीप जोशी जाने-माने पत्रकार है धनबल से दूर रहकर अपनी जीत को लेकर केवल नगर के विकास को मुद्दा बना जनता से वोट की अपील कर रहे है। 

बरहाल चुनावी रंगत अभी फ़ीकी ही नजर आ रही है भाजपा व कांग्रेस दोनों को ही "कोप भवन" में बैठे कार्यकर्ताओ को मनाने का काम भी शुरू करना आवश्यक होगा........



Post a Comment

0 Comments