निर्माणाधीन श्री श्री उत्तम गोपाल कृष्ण गौशाला का आज श्री बडारामद्वारा बांसवाड़ा के संत रामप्रकाश महाराज ने दौरा किया ।

 


डूंगरपुर जिले के सागवाड़ा उपखंड अंतर्गत निर्माणाधीन श्री श्री उत्तम गोपाल कृष्ण गौशाला का आज श्री बडारामद्वारा बांसवाड़ा के संत रामप्रकाश महाराज ने दौरा किया । इनके साथ श्री प्रभुदासधाम रामद्वारा के संत उदयराम महाराज भी उपस्थित रहे ।

 इस दौरान उन्होंने कहा कि सनातनी धर्म के लोगों ने गौशाला का जो यह बिडा उठाया है सभी साधुवाद के पात्र हैं। लेकिन इस गौशाला को संचालित करने के लिए हम सभी को आगे आकर सहयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अपने लिए हर कोई अपना घर बनाता है लेकिन अगर गौ माता के लिए कोई दान करता है तो वास्तव में उसके द्वारा दिया गया दान फलीभूत होता है। उन्होंने कहा कि अगर गौ माता नहीं होती तो कृष्ण भगवान की लीलाएं अधूरी रह जाती। उन्होंने कहा कि गौ माता की सेवा करना सबसे बड़ा धर्म है और इस धर्म को बचाने में हमें सहयोग करना चाहिए तभी हमारा धर्म बचेगा। उन्होंने कहा कि हमें अपने संस्कृति को नहीं भूलना चाहिए और जन्मदिवस पर शादी की सालगिरह पर या किसी ऐसे शुभ प्रसंग पर व्यर्थ का खर्च ना करके हमें गौमाता की सेवा में और गौ ग्रास करवा कर पुण्य लाभ प्राप्त करना चाहिए ।

गौशाला के स्थाई सदस्य राजेश पवार ने कहा कि यह हमारा 10 - 15 सालो से एक सपना था कि यहां पर एक गौशाला बनाई जाए  और यह सपना सच होता नजर आ रहा है निरंतर इस गौशाला में संतों का आगमन हो रहा है और आज भी बड़ारामद्वारा के संत रामप्रकाश महाराज ने इस गौशाला का दौरा किया और गौ भक्तों को आवश्यक दिशा निर्देश और मार्गदर्शन प्रदान किया है। संतो के मार्गदर्शन में यह गौशाला बहुत ही जल्द वागड़ क्षेत्र में बेसहारा और असहाय गौ माता की सेवा में तत्पर रहेगी। इस अवसर पर  श्री श्री उत्तम गोपाल कृष्ण गौशाला के संयोजक मुकेश भोई, गौशाला के स्थाई सदस्य राजेश पवार, कर्मवीर सिंह राठौड़, कृष्ण मदन भावसार, प्रकाश भावसार,  सीमा भावसार, मोहन लाल पंचाल आदि उपस्थित थे।



Post a Comment

0 Comments