बिरसा मुंडा जयंती पर राष्ट्रीय जनजाति गौरव दिवस के रूप में मनाए जाने पर बिटीपी ने जताया विरोध...

 


धरती आबा बिरसा मुंडा जयंती मनाई। 

इस दिन को आदिवासी स्वाभिमान दिवस के रूप में मनाने की मांग

सागवाड़ा. गड़ालाल सिंह में सोमवार को धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा की 146 वीं जन्म जयंती मनाई।

हरीश भाई डामोर ने बताया कि मंडल के समस्त नागरिकों के साथ धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा की जन्म जयंती मनाई कार्यक्रम की अध्यक्षता मंडल अध्यक्ष रामलाल डामोर ने की। मुख्य अतिथि बीटीपी प्रदेश सचिव पवन सरपोटा थे। विशिष्ट अतिथि ब्लॉक अध्यक्ष राजेश डोडियार, जिला परिषद प्रत्याशी राजेंद्र दायमा, सुरेश परमार पंचायत, समिति सदस्य कालूराम मईडा  व विनोद मकवाना थे। कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने सरकार की ओर से इस दिन को जनजाति गौरव दिवस के रूप में मनाए जाने का विरोध करते हुए कहा कि इससे आदिवासी शब्द को खत्म किया जा रहा है उन्होंने मांग रखी कि इस दिन को  राष्ट्रीय आदिवासी स्वाभिमानी दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए। वक्ताओं ने भगवान मुंडा की जीवनी पर चर्चा करते हुए समाज में बढ़ रही कुरीतियों पर लगाम लगाकर समाज में शिक्षा को बढ़ावा देने की बात पर जोर दिया समाज को एक जाजम पर लाने के लिए तन मन धन से काम करने की शपथ ली कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने सरकार द्वारा चलाए जा रहे प्रशासन गांव के संग अभियान का पूरा फायदा लेने की बात कही इस दौरान गांव के मेट कोटवार, वडील, गमेती, माताएं, बहने व पार्टी के पदाधिकारी मौजूद रहे। संचालन निशान्त डेण्डोर ने किया। आभार मानशंकर खराड़ी ने व्यक्त किया।

Video me dekhiye btp ne kese manaya birsa munda jayanti ka divas👇



Post a Comment

0 Comments