मुसलाधार बारिश और पिण्डावल बना टापु, माहीपुल उफान पर, पादरा गांव कि सडक चढी अतिक्रमण कि भेंट...

 


बीती रात मुसलाधार बारिश से  हुआ पिण्डावल गांव टापू में तब्दील।




राजस्थान के डुंगरपुर जिले के साबला उपखंड क्षेत्र में बीती रात को इंद्रदेव ने दिखाया अपना जलवा, गांव एवं सड़के बनी टापू


दो दिन से हो रही बरसात ने कल रात से विक्राल रूप धारण कर लिया जिससे नाले उफ़ान पर बहने लगे तालाबो में जल स्तर बढ़ने लगा यही स्तिथि पिण्डावल गांव में देखने को मिली

रात भर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा नाले की तरफ पाटीदार समाज के कई लोगों घरो में पानी भरने की बात सामने आई


पिण्डावल में गमेला तालाब का जल स्तर बढ़ने से आडेवला नाला उफ़ान पर चल रहा था जिसकी वजह से राज्य महामार्ग उदयपुर बांसवाड़ा मुख्य सड़क पिण्डावल बस स्टेण्ड के पुलिये पास सड़क क्षति ग्रस्त हो गई, सड़क नीचे का पुरा हिस्सा खाली हो गया।


विधुत के पोल  गिरे, जिससे बिजली की सप्पलाई बंध हैं।

आप देख सकते है वीडियो में पानी का बहाव कितना तेज रफ्तार चल रहा है

लोगो का भारी नुकसान हुआ पिण्डावल साबला मार्ग को बंद कर दिया हैं पिण्डावल पुलिये क्षतिग्रस्त होने की वजह से आवागमन बंद कर दिया और दोनों तरफ पुलिस के जवान तैनात कर दिया गया।


प्रशासन ने लोगो से अपील की घर बाहर नही निकले

आसपुर से रिपोर्टर प्रवीण कुमार कोठारी


*अतिक्रमण की भेंट चढ़ी मुख्य सड़क गरगेड बस्ती पादरा*


 डूंगरपुर जिले के सागवाडा उपखंड अंतर्गत पादरा गांव में आयुर्वेदिक अस्पताल से रा उ मा वि पादरा के मध्य गरगेड बस्ती सड़क अतिक्रमण की भेंट चढ़ गई हैं पादरा निवासी नितिन पाटीदार ने बताया कि गरगेड बस्ती सड़क के दोनों तरफ लोगो ने सीसी सड़क छोड़ एक फ़ीट जमीन नही छोड़ी है हर साल बारिश मे पानी इकट्ठा हो जाता है करीब 200 मीटर क्षेत्र में बारिश का पानी जमा हो जाता है कोई भी व्यक्ति अपने घर आंगन के पास से पानी निकालने नही देता है बस्ती मे पहले उक्त जमिन खेती के लिए थी उस समय कोई समस्या नही थी सड़क के दोनों तरफ निकासी थी लेकिन पिछले 3 वर्ष से बारिश में समस्या आती है हर बार सरपंच सचिव पटवारी मौके पर जाकर निकासी करवाते हैं मगर इस बार ग्रामीणों ने विकास अधिकारी सागवाड़ा को रिपोर्ट दी है शुक्र है अभी विद्यालय बन्द है विद्यार्थी स्कूल नही जा रहे है अन्यथा बच्चो के लिए समस्या उत्पन्न हो सकती है ग्रामीण घुटने तक पानी मे सफर तय करते है उक्त पानी मे दुपहिया ही नही निकल सकते है ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग की है कि पंचायत के साथ मिलकर उक्त अतिक्रमण हटवाए और गंदे एवं बरसाती पानी की निकासी करवाये और राजस्व रिकॉर्ड के अनुसार सड़क को खोला जाए और उसपर हुए अतिक्रमण को हटवाया जाए! रिपोर्ट मुकेश कुमार कोकापुर

खबर देखने के लिए लिंक पर क्लिक किजिए👉 https://youtu.be/cPMVzZWltlQ

इधर तेजतर्रार और युवा रिपोर्टर आयुषी चुंडावत ने मांडव गांव से रिपोर्टिंग करते हुए बताया कि 2 दिनों से मूसलाधार बारिश की वजह से गांव में जबरदस्त पानी की आवक हो रही है इंद्रदेव मेहरबान होने की वजह से चारों तरफ पानी ही पानी दिखाई दे रहा है देखिए पूरी रिपोर्ट

इधर वागड़ क्षेत्र में 2 दिनों से मूसलाधार बारिश की वजह से माही नदी उफान पर आने की तैयारी में है माहीडेम के 6 गेट पानी कि आवक को देखते हुए आधा मिटर खोल दिए है तेज बारिश की वजह से माही नदी का जलस्तर काफी बढ़ चुका है और पूल काफी जर्जर है ऐसी स्थिति में आने जाने वाले राहगीरों और वाहनों को काफी खतरा महसूस हो रहा है

Post a Comment

0 Comments