टुटी हुई सडके फिर भी धडल्ले से चल रहे है उदयपुर बांसवाडा रोड पर टोल


 उदयपुर से बांसवाडा 170 किलोमीटर के क्षेत्र में 5 टोल प्लाजा पिछले कई साल से संचालित हो रहे हैं। आसपुर कस्बे से सलुम्बर व जयसमंद जाने वाले रोड पर दो टोल नाके संचालित हो रहे हैं, लेकिन दोनों टोल नाके केवल कहने मात्र के हैं। यहां सुविधाओं के नाम पर कुछ भी नहीं है। इसके बावजूद टोल नाकों पर वाहन चालकों से टोल टैक्स की वसूली हो रही है। वाहन चालक टोल चुकाने के बावजूद टोल रोड पर मिलने वाली विभिन्न निर्धारित सुविधाओं से वंचित हैं। यह समस्या जब से टोल नाके शुरू हुए हैं, तब से लगातार बनी हुई है। इसके बावजूद स्थानीय जनप्रतिनिधियों व आला अधिकारियों की ओर से इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिसका खामियाजा यहां से गुजरने वाले वाहन चालकों को भुगतना पड़ रहा है। दरअसल, आसपुर सलुम्बर रोड पर कस्बे से करीब 10 किमी दूरी पर शेशपुर के समीप एक टोल प्लाजा व सलुम्बर जयसमंद रोड पर कस्बे से करीब 8 किमी दूरी पर खेराड के समीप एक अन्य टोल प्लाजा पिछले करीब दो साल से संचालित हो रहा है। यहां से गुजरने वाले विभिन्न वाहनों से निर्धारित टोल राशि की वसूली हो रही है, लेकिन टोल चुकाने के बावजूद टोल रोड पर मिलने वाली निर्धारित सुविधाएं वाहन चालकों को आज दिन तक नसीब नहीं हो पाई है। जबकि टोल रोड पर शानदार रोड, डिवाइडर, लाइटिंग, संकेतक, एंबुलेंस, क्रेन, चिकित्सा सुविधा, आपातकालीन फोन व पौधरोपण समेत अन्य कई सुविधाएं उपलब्ध होनी चाहिए। मगर इन दोनों टोल रोड में से एक पर भी वाहन चालकों को उचित सुविधा नसीब नहीं हो रही है। इसके बावजूद वाहन चालक जनप्रतिनिधियों व आला अधिकारियों की अनदेखी की वजह से टोल टैक्स चुकाने को मजबूर हैं। वहीं अभी भी आसपुर-जयसमंद व जयसमंद से उदयपुर तक टोल रोड जगह-जगह क्षतिग्रस्त हालत में है।

सुविधाएं तो दूर जगह-जगह से क्षतिग्रस्त टोल रोड होने के बावजूद वाहन चालकों को टोल रोड पर मिलने वाली निर्धारित सुविधाएं आज दिन तक नसीब नहीं हो पाई है। जबकि टोल टैक्स की वसूली लगातार जारी है। टोल रोड की सुविधाएं तो मिलना दूर की बात है। यहां रोड भी जगह-जगह क्षतिग्रस्त हालत में है। जिसकी वजह से यहां से गुजरने वाले वाहन चालकों को बेहद परेशानी हो रही है। आसपुर-उदयपुर सडक़ मार्ग पर हर जगह खड्डे बने हुए है और जगह जगह सडक टुटी पडी है। 

आश्वासन के बाद भी नहीं सुधरी हालत

जन प्रतिनिधियो की ओर से टोल वसूली के विरोध में कई बार टोल पर बदहाल मार्ग को दुरुस्त करने की मांग की गई थी। इसके बावजूद कई जगह कार्य करवाया गया है, लेकिन इसमें भी केवल औपचारिकता बरती गई है। जिसके चलते दोनों टोल रोड अभी तक बदहाल स्थिति में है। यहां टोल वसूली के बावजूद सडक़ मार्ग दुर्दशा के आंसू बहा रहे हैं। जिससे वाहन चलकों को आवागमन में बेहद परेशानी हो रही है। इसके अलावा यहां टोल रोड पर मिलने वाली निर्धारित सुविधाओं का भी पिछले लंबे समय से अभाव बना हुआ है।

उपखंड मुख्यालय सलुम्बर समेत क्षेत्रभर में सडक़ें बदहाल 

आसपुर सलुम्बर कस्बे समेत क्षेत्र के गांवों में दर्जनों सडक़ मार्ग पिछले लंबे समय से सार्वजनिक निर्माण विभाग की उदासीनता के चलते दुर्दशा पर आंसू बहा रहे हैं, लेकिन विभाग इन बदहाल सडक़ों की सुध नहीं ले रहा है। जिसका हर्जाना यहां से गुजरने वाले वाहन चालकों को भुगतना पड़ रहा है। वैसे तो कस्बे समेत क्षेत्र के विभिन्न सडक़ मार्गों की हालत पहले से ही दयनीय बनी हुई थी, लेकिन गत बारिश की सीजन के बाद वर्तमान मेंं बदहाल सडक़ों की सूरत और अधिक बिगड़ गई है। कस्बे समेत क्षेत्र के दर्जनों सडक़ मार्ग पिछले लंबे समय से क्षतिग्रस्त होने के बावजूद विभाग इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। इसको लेकर ग्रामीणों ने कई बार विभागीय अधिकारियों को अवगत करवाया, लेकिन बदहाल सडक़ों को अभी तक सुधारा नहीं गया है। वर्तमान में क्षेत्र की सडक़ों पर जगह-जगह से डामर उखड़ गया है और बड़े-बड़े गड्ढे पड़ गए हैं। कई जगह तो डामरीकृत सडक़ें पत्थरों की खान में तब्दील हो चुकी है। जिसके कारण वाहन चालकों को आवागमन में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं हमेशा हादसे की भी आशंका बनी रहती है। सडक़ों पर डामर की जगह रेत व कंकरीट फैली हुई होने के कारण वाहनों का आवागमन होने पर दूर तक धूल के गुबार उड़ते नजर आते हैं।


आदरणीय दिनेश जी खोड़निया साहब को जन्मदिन की  हार्दिक हार्दिक शुभकामनाये🎂🎂

Post a Comment

0 Comments