टीएसपी क्षेत्र का दायरा बड़ा, पदों में की जाए बढ़ोतरी - दिनेश खोडनिया

 


दस्तावेज पेश कीए, लंबित शिक्षक एवं एलडीसी भर्ती - 2018 का मामला 

टीएसपी क्षेत्र के बेरोजगारों को दी जाए राहत

कालीबाई और नाना भाई की शहादत स्थली पर शहीद स्मारक बनाने की मांग

डूंगरपुर/ शिक्षक भर्ती एवं एलडीसी भर्ती- 2018 को लेकर टीएसपी क्षेत्र के बेरोजगार युवाओं का प्रतिनिधिमंडल बुधवार को जिला कांग्रेस कमेटी के निवर्तमान जिलाध्यक्ष दिनेश खोडनिया के नेतृत्व में जयपुर में मुख्यमंत्री सचिवालय पहुंचे और सीएम की प्रमुख सचिव आरती डोगरा से मुलाकात कर भर्ती संबंधित दस्तावेज पेश किए । खोड़निया ने प्रमुख सचिव डोगरा को बताया कि वर्ष 2018 में शिक्षक भर्ती एवं एलडीसी भर्ती को लेकर विज्ञप्ति जारी हो चुकी थी । इसके बाद तत्कालीन भाजपा सरकार ने जनजाति उपयोजना क्षेत्र टीएसपी का दायरा बढ़ाकर करीब 600 गांवों को शामिल कर दिया । डीएसपी का दायरा तो बढ़ाया लेकिन पदों में बढ़ोतरी नहीं की गई  । इससे बेरोजगारों पर कुठाराघात हुआ ।


खोड़निया ने कुछ दिनों पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात कर इस मामले से अवगत करवाया था और समस्या के समाधान की मांग रखी थी । प्रमुख सचिव को शिक्षक भर्ती एवं एलडीसी भर्ती 2018 तथा टीएसपी एरिया का दायरा बढ़ाने संबंधित दस्तावेज पेश कर बेरोजगार युवाओं के हित में समस्या समाधान की मांग की । इस दौरान पूर्व जिला अध्यक्ष प्रियाकांत पंड्या, निवर्तमान महामंत्री नारायण पंड्या, शिक्षक भर्ती एवं एलडीसी भर्ती बेरोजगार संघ के पदाधिकारी एवं सदस्य मौजूद रहे।

भाजपा सरकार ने बेरोजगारों के हितों पर किया कुठाराघात

खोडनिया ने कहा कि टीएसपी एरिया के लिए शिक्षक भर्ती एवं एलडीसी भर्ती वर्ष 2018 में निकाली और विज्ञप्ति भी जारी की गई लेकिन तत्कालीन भाजपा सरकार ने टीएसपी क्षेत्र का दायरा बढ़ा दिया पदों में बढ़ोतरी नहीं कर भाजपा ने युवा बेरोजगारों के हितों पर प्रहार किया । उन्होंने बताया कि जनजाति उपयोजना क्षेत्र का अधिकांश हिस्सा उदयपुर संभाग में पड़ता है दायरा बढ़ाए जाने से पदों की संख्या कम हो गई।



सीएम गहलोत से मुलाकात, शहीद स्मारक की मांग 

कांग्रेस नेता दिनेश खोडनिया ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात कर वीर बाला काली बाई एवं नानाभाई खाट की शहादत स्थली रास्ता पाल गांव में शहीद स्मारक बनाने की मांग की है । खोड़निया ने मुख्यमंत्री गहलोत को कालीबाई और नाना भाई के साथ रास्ता पाल के इतिहास से अवगत करवाया और कहा की शहादत के सम्मान में शहीद स्मारक बना कर रास्ता पाल के इतिहास को संबल दिया जाए।




वागड़ की खबरें देखने के लिए एप्लिकेशन डाउनलोड करें

Post a Comment

0 Comments