जरुरत मंद महीला को रक्त दान कर बचाई महीला की जिंदगी,

 


सागवाडा  की  इस केरोना  वैश्विक महामारी में हर वर्ग परेशान है ऐसे में  इस विकट परिस्थितियों में  कोरोना काल में जब एक महिला को  रक्त की आवश्यता पड़ने पर युवक ने दिया मानवता का परिचय । जानकारी के मुताबिक  सागवाडा के एक निजी चिकित्सालय भर्ती   महिला कोऱोना का इलाज चल रहा था ऐसे  समय मे  डॉक्टरों ने परिजनों से 0+ पोसिटिव ब्लड की आवशकता बताई ऐसे समय मे परिजनों द्वारा सोशल मिडिया के माध्यम से मेसज को वायरल किया  तब परिजनों ने सपना फाऊंडेशन के सागवाडा प्रभारी राहुल सेवक ने संपर्क किया । राहूल सेवक ने मोबाइल से  तत्काल गड़ाजसराजपुर निवासी राजेश पिता नवलजी बुनकर  0+  ब्लड की आवश्यकता बताई । कुछ मिनटों के पश्चात  राजेश बुनकर  व राहूल सेवक दोनों मोटरसाइकिल से  20किलोमीटर की दूरी तय कर   सागवाड़ा के निजी चिकित्सालय में पहूचे तथा तत्काल चिकित्सा टीम ने राजेश बुनकर का हीमोग्लोबिन चेक करके फिर युवक ने रक्तकोष में पहूँचकर रक्दान किया । प्राप्त जानकारी के अनुसार सागवाडा के एक निजी चिकित्सालय मे भर्ती कोरोना से जूझ रही  महिला जूईतलाई गलियाकोट निवासी माया खटीक को 0+ पोसिटिव ब्लड आवश्यकता थी  । ब्लड चढ़ने से फिलहाल महिला की हालत में काफी  सुधार है वही परिजनो ने रक्तविर का आभार जताया   ।

महिला का परिवार हुआ भावूक  

महिला के परिवार से उनके पति   हरीश खटीक ने आभार जताया  क्योंकि इस लोकडाऊंन जैसी विकट परिस्थितियों में रक्त नही मिलेगा यह सोचकर चारो तरफ से निराशा हाथ लग रही । लेकिन सोशल मीडिया के माध्यम से सपना फाऊंडेशन के सागवाडा प्रभारी सिलोही निवासी राहूल सेवक व राजेश बुनकर के अथक प्रयासो कुछ ही समय मे रक्त की कमी पूरी हो गई वही उनकी पत्नी की हालत में सुधार है   ।

क्या कहा ब्लड डोनर

राजेश बुनकर ने सभी युवाओ से अपील की  है वैक्सीनेशन से पूर्व एक बार अवश्य रक्तदान करना चाहिए  तथा मानवता का परिचय दे क्योंकि इस विकट कोरना वायरस  विकट परिस्थिति में  मानव सेवा में कार्य करे क  रक्तवीर ने बताया कि रक्तदान किसी फेक्ट्री  में नहीं बनता है वह भगवान का उपहार है इसलिए  इस पुनीत कार्य मे भागीदारी कर समाज को  सुरक्षित करे बुनकर का कहना इस मानव जीवन मे  अगर उनकी वजह से किसी की जान बचती है तो वो सबसे बड़ा पुण्य माना जाएगा बुनकर का मानना है कि हमारा उद्देश्य सिर्फ लोगो को भलाई करना है नाकि वाहवाही करना इस मानव कार्य मैं खासकर अगर युवा जुड़ेगा तो इस वैश्विक महामारी में रक्त की कमी नहीं पड़ेगी बुनकर इससे पहले पूर्व में निशुल्क रक्तदान कर चुके हैं तथा इस कोरना काल में सह्दय की जगह तारीफ ओर चर्चा हो रही है  सपना फाउंडेशन के सागवाड़ा प्रभारी राहुल सेवक ने क्या कहा सभी युवाओ को रक्दान के लिए प्रेरित किया तथा वैक्सीनेशन से पूर्व हर युवाओं को रक्तदान अवश्य करना चाहिए क्योंकि युवाओं में विशेषकर अनेक प्रकार की भ्रांतियां बनी रहती है उन भ्रांतियां से उठकर मानव सेवा के हित में कार्य अवश्य करें क्योंकि आज का युवा ही मानव सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहता है युवाओं से काफी उम्मीद रहती है ब्लड बैंक से हरी सर का भी सहयोग रहा ।



Post a Comment

0 Comments