जनता के मन की बात, पुलिस प्रशासन के साथ - मन की बात करते हैं थानाधिकारी राव अजय सिंह की

 


 थानाधिकारी राव अजय सिंह सागवाड़ा पुलिस थाना

बात जनता के मन की-

डूंगरपुर जिलांतर्गत सागवाडा थाने के थानाधिकारी अजयराव सिंह कि नियुक्ति के बात जनता अपने आप को महफूज़ ओर सुरक्षित महसूस करने लगी है। अपराधियों में डर और आमजन में विश्वास कायम हुआ है । लोगों का कहना है कि सागवाडा थाने में आने वाले सभी थानाधिकारियों ने अपना फर्ज बखूबी निभाया है पर अभी तक सबसे ज्यादा विश्वास लोगों का थानाधिकारी राव अजय सिंह पर ज्यादा कर रही है। राव के सागवाडा थाना संभालने के बाद से अपराधियो ने मानो सागवाडा क्षेत्र छोड़ सा दिया है । इनके काम करने के तरीक़े से क्षेत्र की जनता इन्हें सिंघम नाम से भी पुकारने लगी । जिस तरह फ़िल्म में सिंघम से अपराधी डरते है वही जनता उतना ही पसंद करती है उसी तरह राव अजय सिंह से भी अपराधी में डर है और इतना ही क्षेत्र की जनता उन्हें पसंद करती है ।


देखा जाए तो पुलिस के पास जाने से हर कोई हिचकिचाहट महसूस करता है अपनी समस्या को पुलिस तक पहुंचाने में डरता है । लेकिन राव अजय सिंह के आम जनता के प्रति व्यवहार को देखकर एसा प्रतीत नहीं होता कि वे पुलिस महकमे के सख्त अधिकारी है । आम लोगों से एक सामान्य व्यक्ति कि तरह पेश आने वाले राव अजय सिंह अपराधियों के लिए उतने ही सख्त है जितना एक थानाधिकारी को होना जरूरी है । थानाधिकारी राव अजय सिंह के नाम मात्र से थाना क्षैत्र के अपराधियों में भय और खोफ के चलते कई अपराधियों ने अपराधी प्रवृति त्याग कर नेकी का रास्ता अपनाते हुए रोजगार प्रारंभ कर नई जिंदगी की शुरुआत कर दी है । आपको बता दें कि जब से सागवाड़ा थाने में अजय सिंह को नियुक्ति मिली है तब से लगाकर आज दिन तक एक भी चोरी की वारदात थाना क्षेत्र में नजर नहीं आई पिछले दिनों बोहरा वाड़ी इलाके में एक सूने मकान के ताले को तोड़कर अपराधी ने वारदात को अंजाम देने की कोशिश की तो थाना अधिकारी राव अजय सिंह की सजगता और तुरंत मौके पर पहुंचने से रंगे हाथों धरा गया। समय पर तुरंत कार्रवाई की वजह से किसी बड़े नुकसान को समय रहते थाना अधिकारी द्वारा रोक दिया गया आपको बता दें कि इससे पहले थानाधिकारी राव अजय सिंह चीतरी थाने में नियुक्त थे जहां पर उनकी इस कार्यशैली की चर्चा हर एक की जुबान पर आज भी सुनाई देते हैं और जब वहां से उनका स्थानांतरण हुआ तो बच्चे बच्चे के चेहरे पर मायूसी छाई थी जो यह बात स्पष्ट करती है कि उन्होंने आमजन में विश्वास पैदा किया था।


यही नहीं थानाधिकारी राव अजय सिंह किसी जरूरतमंद को या किसी मुसीबत में फंसे हुए इंसान को देखते हैं तो उनका दिल पसीज जाता है और तुरंत उसकी मदद को दौड़ पड़ते हैं । गरीब की मदद करना उनका पहला कर्तव्य स्पष्ट दिखाई देता है उन्होंने चितरी थाना क्षेत्र में एक आदिवासी परिवार की ऐसी कन्या जिसका कोई सहारा नहीं था उसे गोद लेते हुए उसका कन्यादान का फर्ज भी अदा किया

और आज भी उस आदिवासी परिवार का रिश्ता निभाते हुए एक भाई का फर्ज अदा कर रहे हैं । हर मौके पर वे आदिवासी कन्या के घर रस्म अदा करने पहुंचते हैं। इसके साथ ही वे अपने स्टाफ के प्रति भी काफी सहयोग की भावना को लेकर नजर आते हैं इसी वजह से जहां पर थानाधिकारी राव अजय सिंह वहां पर उनके स्टाफ कार्य के प्रति सजग और जागरूक दिखाई देते हैं आपसी तालमेल बिठाकर काम करने का उनका तरीका लाजवाब है।

जय हिन्द 🙏 

जय भारत 

✍️ सागवाड़ा लाईव न्युज जितेन्द्र सिंह चौहान

और  मुकेश जोशी





Post a Comment

0 Comments