योगेश लखानी की मां ने मरने के बाद अपनी आंखें और त्वचा दान की समाज के लोगों के लिए।

 


योगेश लखानी की मां ने मरने के बाद अपनी आंखें और त्वचा दान की समाज के लोगों के लिए। 


योगेश लखानी जो ब्राइट आउटडोर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के सीएमडी और फिल्म निर्माता हैं ,वो आउटडोर मीडिया में एक लोकप्रिय नाम है और एक सफल व्यवसायी है जो भारत में अपने अच्छे कामों के लिए जाने जाते हैं।  वह भारत और विदेशों में अधिकतम संख्या में फिल्मों, कॉरपोरेट्स और कार्यक्रमों से जुड़े रहे हैं।


दुर्भाग्य से, योगेश लखानी की मां कुसुमबेन जीवनलाल लखानी का हाल ही में निधन हो गया। मरने के बाद उनकी मां ने अपनी आंखें और त्वचा दान कर दी है। लखानी की मां, जो 77 वर्ष की थीं, ने अपने जीवन में कई अच्छे काम किए और जाते जाते समाज में लोगों की मदद के लिए आँखें और त्वचा दाल कर दिया। 


योगेश लखानी ने कहा, "अपना अंग दान करना महत्वपूर्ण है और मुझे गर्व है कि मेरी मां ने अपनी आंखें और त्वचा समाज के लिए दान किया।  लोगों को अंग दान के बारे में जागरूकता पैदा करनी चाहिए।" किसी इंसान को बचपन से दिखाई नहीं देता ऐसे इंसान को आँख मिल जाएगी तो वो दुनिया देख पायेगा और आपको दुआएं देगा। 


लखानी कई गैर सरकारी संगठनों और सामाजिक संघों से भी जुड़े हुए हैं। वह पिछले 20 साल से सामाजिक कार्य कर रहे हैं। वह हर महीने बोरीवली में 300 से अधिक जरूरतमंद लोगों को मुफ्त अनाज वितरित करते आ रहे हैं। वह कांदिवली पश्चिम में डायलिसिस अस्पताल से भी जुड़े हुए हैं जहाँ ग़रीबों का इलाज एक रूपए में होता है । वह अपना वृद्धाश्रम भी चला रहे हैं।



Post a Comment

0 Comments