शिक्षा ही सफलता की कुंजी - डूंगरलाल प्रजापति संभाग स्तरीय प्रजापति प्रोफेशनल बंधु सम्मेलन हुआ आयोजित।




शिक्षा ही सफलता की कुंजी - डूंगरलाल प्रजापति


 संभाग स्तरीय प्रजापति प्रोफेशनल बंधु सम्मेलन हुआ आयोजित।


उदयपुर। वागड़ मेवाड़ प्रजापति समाज संस्थान की ओर से रविवार को संभाग स्तरीय प्रजापति प्रोफेशनल बंधु सम्मेलन आयोजित किया गया। चित्रकूट नगर में स्थित निर्माणाधीन हॉस्टल के परिसर में संभागीय सम्मेलन में अधिवक्ता, इंजीनियर, सीए, चिकित्सक, बैंकर्स, पीएचडी होल्डर्स एवं विभिन्न क्षेत्र से जुड़े लोगों ने भाग लिया। छात्रावास निर्माण में 51 हजार से अधिक राशि देने वाले पुंजालाल प्रजापति जोगपुर, स्वर्गीय ओंकारलाल प्रजापति दरौली, सोहनलाल प्रजापति बैदला और सम्मलेन आयोजन में विशिष्ठ सहयोग करने वाले रूपलाल प्रजापति साकरोदा,लक्ष्मीनारायण प्रजापति, शंकर लाल जी एडवोकेट, प्रभुलाल प्रजापति एडवोकेट, कमलेश पटेल एडवोकेट, छगन लाल जी समीजा और हिमांशु पटेल  सहित विभूतियों का सम्मान किया गया। संस्थान के भगवान प्रजापति ने बताया कि  सम्मेलन में संस्थान की कार्यकारिणी के सदस्य, जिला अध्यक्ष, चोकला अध्यक्ष एवं विशिष्ट समाज बंधु सहित लगभग 300 प्रतिभागियों ने भाग लिया।मुख्य अतिथि राष्ट्रीय कुमार महासभा के प्रदेशाध्यक्ष मोड़ीलाल सेम्बारा थे और अध्यक्षता संस्थान के संभागीयअध्यक्ष डुंगरलाल प्रजापति ने की। सम्मलेन के संयोजक एव सभाध्यक्ष नारायणलाल प्रजापति सहित समाजजन मौजूद रहे।


इस मौक़े पर राष्ट्रीय कुम्हार महासभा के प्रदेशाध्यक्ष मोड़ी लाल सेम्बारा ने कहा कि समाज का विकास तब सम्भव हैं जब युवा शिक्षित होगा और राजनीति में हमारा पूर्ण प्रतिनिधित्व होगा। 

 संस्थान अध्यक्ष डूंगरलाल प्रजापति ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया। जिला अध्यक्ष उदयपुर गणेश प्रजापति ने संस्थान के गठन से लेकर अब तक किये गए कार्यो, उद्देश्यों, प्रतिभा सम्मान समारोह, छात्रावास निर्माण सहित अन्य गतिविधियों के बारे में जानकारी प्रदान की। वरिष्ठ अधिवक्ता शंकरलाल प्रजापति ने सम्मलेन में सभी प्रोफेशनल बंधुओं से आह्वान किया कि अलग-अलग क्षेत्र में पहचान रखने वाले समाजबंधु समाज हित मे काम करे, उन्होंने कहा कि अधिवक्ता न्याय एवं समाज के बीच की कड़ी है,समाज में इतना संख्या बल होने के बाद भी अधिवक्ताओं की संख्या कम है इसलिए लोगों को शिक्षित होना जरूरी है शिक्षित व्यक्ति सभी क्षेत्रों में अच्छा कार्य कर सकता है। संस्थान वरिष्ठ उपाध्यक्ष डूंगर लाल पीपलादा ने शिक्षा को विकास की कुंजी बताया उन्होंने कहा कि समाज का छात्रावास जितना जल्दी तैयार होगा, उतना जल्दी यहां पर पूरे संभाग से आकर छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा में अध्ययन कर सकेंगे। इंजीनियरिंग कर चुकी दिव्या प्रजापति ने सम्मलेन में अपने अनुभवों को साझा किया, उन्होंने कहा कि समाज में रूढ़िवादिता खत्म होनी चाहिए और महिला सशक्तिकरण के लिए कार्य होने चाहिए ताकि महिलाएं भी पुरुषों के साथ कदम से कदम मिला कर चल सकें। मेवल चौखले के जीवन प्रजापति ने हॉस्टल निर्माण में प्रोफेशनल लोगो की अहम भूमिका बताते हुए तन मन धन से सहयोग करने की बात कही। इंजीनियरिंग फील्ड में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पत्र वाचन कर चुके सुरेंद्र जालोरा ने कहा कि कक्षा 10वीं और 12वीं में अच्छे अंक पाने वाले युवाओं को प्रोफेशनल कोर्स की ओर बढ़ना होगा उन्होंने कहा कि संस्थान प्रतिभाओं को पूर्ण सहयोग प्रदान करें ताकि आगे बढ़कर समाज विकास में अपना योगदान दे सकें। चार्टड अकाउंटेंट योगेश प्रजापति ने इन्कम टैक्स और जीएसटी के संबंध में जानकारी प्रदान की। उन्होंने रिटर्न फाइल करने व उससे होने वाले फायदों के साथ जीएसटी रजिस्ट्रेशन से व्यापार में होने वाले फायदों के बारे में बताया। संस्थान सचिव भगवानलाल झाखरी ने नशा मुक्त और कुरीतियों मुक्त समाज विषय पर कविता के माध्यम से अपनी बात रखी। उन्होंने युवाओं को नशे से दूर रहने और कुरीतियों को समाज से खत्म करने में योगदान देने की बात कहीं। बैंकर मुकेश प्रजापति ने समाज का डिजिटलाइजेश कर समाज की वेबसाइट  बने एव उस पर सभी की जानकारी उपलब्ध करवानी चाहिए ताकि एक दूसरे से संपर्क बढ़ सके। संस्थान के संरक्षक केशवलाल जालोरा ने युवाओं से आह्वान किया कि समाज विकास में वे अपना योगदान दे। सोहनलाल बेदला ने इस मौक़े पर प्रोफेशनल लोगो को समाज विकास में योगदान देने की बात कही। पीएचडी होल्डर नरेंद्र प्रजापति ने राजनीति और कृषि के क्षेत्र में युवाओं को आगे आने की बात कही। उन्होंने कहा कि कृषि के क्षेत्र में आगे बढ़ने की अपार संभावनाएं हैं। संस्थान युवा अध्यक्ष राजेश चौरासी ने इस मौके पर प्रोफेशनल लोगों से आग्रह किया कि वह युवाओं को मार्गदर्शन दें ताकि वह अलग-अलग क्षेत्रों में जाकर अच्छा कार्य कर सकें और अपने और अपने परिवार के साथ साथ समाज का नाम रोशन कर सकें। आईआईटीइन चुन्नी लाल उमरडा ने पॉलीमर साइंस के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस क्षेत्र में युवाओं के लिए अपार संभावनाएं हैं युवा अगर इस क्षेत्र में जाते हैं तो वह अच्छे मुकाम पर पहुंच सकते हैं इसके अलावा इस क्षेत्र से जुड़े व्यापार से जोड़ते हुए अपने जीवन में बदलाव हो सकते हैं। संस्थान महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष हीरा देवी ने इस मौके पर महिलाओं से आह्वान किया कि वह भी आगे आये औऱ समाज योगदान में भूमिका निभाएं। कार्यक्रम में बाड़मेर से आये देवाराम प्रजापति ने संस्थान की ओर से किए जा रहे कार्यो की सराहना की। संस्थान के कोषाध्यक्ष शंकरलाल दिवड़ा ने हॉस्टल निर्माण की रुपरेखा प्रस्तुत की।  सम्मलेन का संचालन एडवोकेट प्रभुलाल ने किया। इस सम्मलेन में रिटायर्ड आरएएस गौतम लाल प्रजापति, कचरु लाल प्रजापति, बांसवाड़ा जिला अध्यक्ष शंकरलाल सुरपुर, वीरेंद्र प्रजापति, देवीलाल सीमलवाड़ा देवीलाल सराय, देवीलाल सेमारी, खेमराज खड़क, चुन्नीलाल झालावाड़, नाथूलाल डाल, पेमा लाल जी,नारायण लाल जी झालावाड़ किशोर प्रजापति भुवाणा, सोहन जी सकरोदा,दयाशंकर ओडन, राजेंद्र जी उतरदा भगवान लाल जावदऔर देवीलाल घोड़च सहित कई समाजजन मौजूद थे। सम्मलेन में आये समाजजनो का कार्यालय मंत्री मोहन लाल प्रजापति ने धन्यवाद ज्ञापित किया।


Post a Comment

0 Comments