सांसद कनकमल कटारा ने लोकसभा में नियम 377 के अन्तर्गत मामला उठाया-कहा कि दक्षिणी राजस्थान के आदिवासी बहुल क्षेत्र में धर्मान्तरण गिरोह सक्रिय होने से समस्या विकराल हों रही है

 

सांसद कनकमल कटारा ने लोकसभा
में नियम 377
के अन्तर्गत मामला उठाया-कहा कि दक्षिणी राजस्थान के आदिवासी बहुल क्षेत्र में धर्मान्तरण गिरोह सक्रिय होने से समस्या विकराल हों रही है

आदिवासी-जनजाति बहुल क्षेत्र में धर्मान्तरण के कुत्सित प्रयासों पर केन्द्रीय गृह मन्त्रालय तत्काल अंकुश लगवायें-कटारा

नई दिल्ली।बाँसवाड़ा-डूंगरपुर के सांसद कनकमल कटारा ने दक्षिणी राजस्थान के आदिवासी बहुल क्षेत्र में धर्मान्तरण के कुत्सित प्रयासों को रोकने के ढोस उपाय सुनिश्चत करने की माँग की है।
लोकसभा में नियम 377 के अन्तर्गत यह मामला उठाते हुए उन्होंने कहा कि आदिवासी-जनजाति अंचल में यह एक बड़ी और गम्भीर समस्या बनती जा रही है।कटारा ने बताया कि राजस्थान के बाँसवाड़ा,डूंगरपुर,खेरवाड़ा,उदयपुर सहित मध्य प्रदेश,छत्तीस गढ़,झारखंड,गुजरात आदि प्रदेशों में जनजाति समुदाय के लोगों को ईसाई धर्म में परिवर्तित करने के लिए एक विशेष टीम सक्रिय है जिसे रोकना नितान्त जरुरी है।
उन्होंने आसन के माध्यम से केन्द्रीय गृह मंत्री से अनुरोध किया कि वे तत्काल इस पर अंकुश लगाने के लिए कार्यवाही करायें और जो लोग आदिवासी - जनजाति के भोले भाले लोगों को बरगलाने में लगे उन्हें चिन्हित करवा उनके खिलाफ़ सख़्त कार्यवाही करायें। साथ ही ईसाई धर्म अपना कर अल्प संख्यक और जनजाति का दोहरा लाभ उठाने वालों को भी चिन्हित कर उन्हें मिल रही आरक्षण और  गैर वाजिब सुविधाओं को तत्काल रुकवाया जाए ।




Post a Comment

0 Comments