शिक्षक और कर्मचारी संगठनों की ओर से राज्य सरकार द्वारा पुरानी पेंशन लागू करने पर डूंगरपुर शहर में धन्यवाद रैली

 


डूँगरपुर।  डूंगरपुर जिले के विभिन्न शिक्षक और कर्मचारी संगठनों की ओर से राज्य सरकार द्वारा पुरानी पेंशन लागू करने पर शहर में धन्यवाद रैली निकाली गई वहीं, स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में आमसभा का आयोजन हुआ।

 सभा मे कैबिनेट मंत्री महेंद्रजीत सिंह मालवीया, जनजाति राज्य मंत्री अर्जुनसिंह बामनिया, हरियाणा राज्य पीआरओ व डूँगरपुर-बांसवाड़ा संसदीय क्षेत्र पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा, डूँगरपुर विधायक गणेश घोघरा, अनुसूचित जाति वित्त कॉर्पोरेशन शंकर यादव व डूँगरपुर जिला कांग्रेस के निवर्तमान जिलाध्यक्ष दिनेश खोड़निया शामिल हुए।

 इस दौरान कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री अशोक द्वारा पुरानी पेंशन लागू करने पर सीएम अशोक गहलोत और कार्यक्रम में मौजूद प्रदेश के तीनो मंत्रियो का आभार जताया।

पुरानी पेंशन बहाली पर कर्मचारियों ने डूंगरपुर शहर के आदिवासी छात्रावास से धन्यवाद रैली निकाली धन्यवाद रैली आदिवासी छात्रावास से रवाना होकर शहर के विभिन्न मार्गों से होकर गुजरी और स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में जाकर रैली सम्पन्न हुई जिसके पश्चात स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में आमसभा का आयोजन हुआ।

 इस मौके पर न्यू पेंशन स्कीम एम्प्लॉयी फेडरेशन के प्रदेश समन्वयक विनोद चौधरी, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष दयालसिंह, जितेंद्र बियोला सहित राज्य कर्मियों ने अपने उदबोधन में कहा कि अशोक गहलोत ने उनकी वाजिब मांग को स्वीकार किया और एक बार फिर से पुरानी पेंशन योजना शुरू की है और इसका एहसान कभी चुकाया नहीं जा सकता।

 अपने संबोधन में मालविया ने कहा कि पेंशन कर्मचारियों की बुढ़ापे की लाठी होती है और केंद्र की वाजपेयी सरकार ने उसे छीन लिया था लेकिन उस लाठी रूपी संबल देने का काम प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया है।

ऐसे में उन्होंने कहा कि कर्मचारियों का भी फर्ज बनता है कि वे सरकार के प्रति अपनी ईमानदारी निभाए।   जनजाति राज्य मंत्री अर्जुनसिंह बामनिया ने कहा कि कर्मचारियों को उनके 14 साल के वनवास के बाद फीर से खुशियां मिली है, ऐसे में वे जब तक जिये तब तक कांग्रेस के साथ रहें।

 सभा में हरियाणा राज्य पीआरओ व पूर्व सांसद भगोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जैसा संवेदनशील मुख्यमंत्री कोई नहीं हो सकता है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश के किसान, युवा, कर्मचारी प्रत्येक वर्ग का ध्यान रखा है. ऐसे में अब समय हमें उनका ध्यान रखने का है।

इधर, इस मौके पर विधायक गणेश घोघरा ने कर्मचारियों से डेढ़ साल बाद आने वाले विधानसभा चुनाव में गहलोत को फिर से मुख्यमंत्री बनाने का आव्हान किया।

अनुसूचित जाति वित्त कॉर्पोरेशन के चेयरमैन डॉ यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत ने कर्मचारियों को होली का जो तोहफ़ा जो दिया है वो आजीवन चलने वाला है ओर याद रखना है कि ऐसा मुख्यमंत्री बार-बार नही मिलता।

इस अवसर पर निवर्तमान डूंगरपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश खोडनिया, उप जिला प्रमुख सुरता परमार, डूँगरपुर पँचायत समिति प्रधान श्रीमती कांता कोटेड, पूर्व उप जिला प्रमुख प्रेमकुमार पाटीदार, जिला कांग्रेस प्रवक्ता सुखदेव यादव सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारी उपस्थित रहे।



Post a Comment

0 Comments