राजस्थान आदिवासी महा समिति द्वारा सामाजिक मंथन शिविर आदिवासी छात्रावास डूंगरपुर में आयोजित हुई ।

 

राजस्थान आदिवासी महा समिति द्वारा सामाजिक मंथन शिविर आदिवासी छात्रावास डूंगरपुर में आयोजित हुई ।

जिसकी अध्यक्षता एडवोकेट सुंदरलाल परमार बार एसोसिएशन अध्यक्ष डुंगरपुर  एवं राजस्थान आदिवासी महासमिति प्रदेश अध्यक्ष ने की ।

 मुख्य अतिथि राजकुमार रोत विधायक 84 एवं विशिष्ट अतिथि रामप्रसाद डेन्डोर विधायक सागवाडा devram रोत प्रधान बिछीवाड़ा किशन गिरी महाराज सुराता कांतिभाई आदिवासी गटुलाल डेंडोर ईश्वर लाल कटारा विजयपाल रोत गमेती राजमल रोत एच एच खराड़ी लिलाराम सरपंच संघ जिलाअध्यक्ष ने की मंथन शिविर के मुख्य मुद्दे    1  युवा व युवतियां द्वारा आत्महत्या के घृणित मामले बढ़ रहे हैं इस पर गहन मंथन  2     क्षेत्र में एक्सीडेंट मामले आए दिन बढ़ रहे हैं इस पर मंथन ।

3    थानों एवं महिलाओं में विवाद विच्छेद के प्रकरणों का निस्तारण केसे हो इसका मंचन 

4  डी जे बाजे से समाज पर पड़ने वाले बुरे असर का निराकरण क्या हो उस पर गहन विचार ।

5  राजनीतिक धार्मिक सामाजिक पारिवारिक बिंदुओं पर विचार मंथन किया ।

समाज के सभी पालों के प्रतिनिधि एवं जिले के सभी सरपंच एसोसिएशन ब्लॉक अध्यक्ष जिले के सभी प्रधान सरपंच एवं समाज के संगठनों के प्रतिनिधि  आदिवासी महा समिति के सभी ब्लॉक अध्यक्ष जिला व संभाग व प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारी एवम भगत मेट कोतवाल मौजूद थे ।

 सभी वक्ताओ ने डी जे पर  संपूर्ण पाबंदी लगाने का निर्णय लिया एवं वार्ड पंच सरपंच व समाजसेवी व अन्य समिति गठन कर अभियान के रूप में डीजे बंद कराने का निर्णय लिया ।

 प्रकृति निर्मित चीजें फायदा देती है मानव निर्मित दो धारी तलवार की तरह होती है फायदा और नुकसान दोनों देती है इस चीज का समाज जनों को समझाने की जरूरत है ।


एक्सीडेंट  रोकने के लिए पेट्रोल पंप को लिखित मैं समाज की ओर से देने की जरूरत बताई जिसमें बिना हेलमेट वालो को पेट्रोल ना दें एवं बिना लाइसेंस पेट्रोल ना दे तो कुछ हद तक समस्या का समाधान हो सकता है विवाह विच्छेद के लिए आदिवासी समाज की संस्थाओं के प्रतिनिधियों को अधिकार दिया जाए उनके द्वारा प्रमाण पत्र जारी किया जाने का नियम बनाए तो द्वेष ता के कारण विवाह विच्छेद हो रहे हैं वह कम व बंद हो सकते हैं ।

 आत्महत्या होने के कारण पर बहुत ही अच्छा मंथन किया युवा पीढ़ी को परिवार का भय डर नहीं है  बच्चों के मां बाप से डर नहीं होता है पर परिवार वालों से होता है मगर परिवार वाले दूसरे बच्चों पर या परिवार के बच्चों को समझने व समझाने का प्रयास करें   परीवार से डर नहीं होने से आत्महत्या के कगार पर पहुंचते हैं ।

 इस कार्यक्रम में समाज के सभी प्रतिनिधियों ने बार एसोसिएशन के नव मनोनीत अध्यक्ष एडवोकेट सुंदर लाल परमार का भव्य स्वागत किया फूल माला और साफा बंधा कर उनका हार्दिक स्वागत किया  समाज को एक जाजम पर लाने का प्रयास किया इसके लिए उन्हें धन्यवाद दिया और अध्यक्षता करते हुए sundrji परमार ने कहा कि 25 मई को उदयपुर जिले के अंदर आदिवासी महा समिति का स्थापना दिवस आयोजित किया जा रहा है जो प्रदेश स्तर का है जिसमें अधिक से अधिक संख्या में पधारने का आह्वान किया इस कार्यक्रम में बंशी लाल कलासुआ दशरथ बरंडा रतनलाल कोटेड भरतलाल डेंडोर पोपटलाल खोखरीया अरविंद रोत सत्यपाल रोत  प्रेमचंद भगोरा रुपलाल झाकरी बापू लाल रोत थावरचंद कटारा रुपलाल  अमृतलाल ruplal डोडा प्रभुलाल रोत कान्ति लाल रो आशुतोष रोत एवं कई सरपंच मौजूद थे ।

 कार्यक्रम का संचालन बसंतलाल ननोमा ने किया आभार विजयपाल रोत ने माना ।



Post a Comment

0 Comments