थानाधिकारी राव अजय सिंह जब हुए अरनोद से विदा तो जनता की आंखों में आसूं बह गए, खुद राव अजय सिंह भी भावुक हो उठे...

 

थाना अधिकारी अजय सिंह राव जब हुए अरनोद से विदा तो हर एक की आंखों में आंसू खुद थाना अधिकारी राव अजय सिंह अपने आंसुओं को रोकने में सफल नहीं हुए भावुक होते हुए उन्होंने अरनोद की धरती को विदाई दी। ऐसा कर्तव्यनिष्ठ और ईमानदार अधिकारी और वह भी पुलिस महकमे में बहुत ही कम देखने को मिलते हैं। और ऐसे कर्तव्यनिष्ठ और ईमानदार अधिकारी आज के युग में कुछ लोगों को रास नहीं आते।


अरनोद कस्बा शुक्रवार को बिल्कुल सुनसान दिखाई दे रहा था । हर गली मोहल्ले में हर छोटी बड़ी दुकान पूरी तरह से बंद थी, सड़कों पर पूरी तरह सत्राटा पसरा हुआ । लेकिन अरनोद कस्बे का यह बंद किसी पार्टी के आव्हान पर नहीं बल्कि लोगों का स्वैच्छिक था । दोपहर बाद लोगों का हुजूम शहर की गलियों से होते हुए थाने के बाहर पहुंचा गया । यहां अरनोद थानाधिकारी रहे अजय सिंह राव को विदाई देने के लिए जुलूस भी निकाला गया । क्योंकि उन्होंने स्वैच्छिक रूप से 11 मई को प्रतापगढ़ की जगह उदयपुर जिले में ट्रांसफर ले लिया । थानाधिकारी की विदाई के दौरान लोगों की आंखों में आंसू थे वही लोगों का प्यार देखकर अजय सिंह राव की आखें भी छलक पड़ी । 

Video---


लोगों का कहना है कि ऐसा दृश्य कभी किसी नेता या अन्य अधिकारी के लिए देखने को नहीं मिला था। अगर यह बंद किसी पार्टी की तरफ से भी होता तो आधे से ज्यादा दुकानें खुली मिलती। इस दौरान लोगों ने कहा कि अरनोद में पहले भी एक थाना अधिकारी प्रवीण टांक आए थे उनको भी विधायक के विरोध के चलते हटाया गया था । अरनोद में जैसे ही कोई अच्छा थानाधिकारी आता है सरकार उसे रहने नहीं देती है । ऐसे में अपराध कम कैसे होगा । अच्छा थानाधिकारी अपराध को कम करने के लिए अपराधियों पर नकेल करता है इसको लेकर उनके आकाओं को नाराजगी होती है। इसी के परिणाम स्वरूप बार-बार थानाधिकारी बदल रहे हैं। पिछले 1 साल में यहां 3 थानाधिकारी बदल चुके हैं । आपको बता दें कि इससे पहले राव अजय सिंह सागवाड़ा थाना अधिकारी के रूप में अपनी सेवाएं देकर गए हैं और उस दौरान सागवाड़ा क्षेत्र में अपराधियों पर नकेल कसने में उन्होंने कोई कमी नहीं रखी थी और अपराधियों में भय का माहौल पैदा हुआ था आमजन में विश्वास पैदा हुआ था इस बात को लेकर सागवाड़ा क्षेत्र के सोशल मीडिया पर तरह तरह की टिप्पणियां की जा रही है । सोशल मीडिया पर लोग लिखते हैं कि एक अच्छे और ईमानदार अधिकारी की लोग परख नहीं करते हैं । नेताओं को भी एक अच्छे ईमानदार कर्तव्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी की जरूरत नहीं होती क्योंकि उनके कई काम ऐसे अधिकारी की वजह से बिगड़ जाते हैं। फिलहाल राव अजय सिंह अरनोद से जनता का अपार स्नेह लेते हुए दिलों में राज कर उदयपुर के लिए प्रस्थान कर गए। 


Post a Comment

0 Comments