नगरपालिका अध्यक्ष व नगरपालिका प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट...

 नगर पालिका अध्यक्ष एवं नगरपालिका प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ पुलिस थाना सागवाड़ा में रिपोर्ट दर्ज



सागवाड़ा डूंगरपुर जिले के सागवाड़ा नगर पालिका अंतर्गत नगर पालिका सागवाड़ा के बाहर किराए की दुकान में अपना व्यापार चलाने वाली संतोष भावसार पत्नी हरीश भावसार निवासी सागवाड़ा ने पुलिस थाना सागवाड़ा में उपस्थित होकर एक रिपोर्ट दर्ज करवाई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि संतोष भावसार के पति के सन् 1987 से नगरपालिका सागवाडा की दुकानों में किरायेदार की हेसीयत से उक्त दुकान का निर्विवाद रूप से उपयोग उपयोग कर रहे है वर्तमान में संतोष भावसार के पति को ब्रेन हेमरेज का अटेक आ गया है जिससे उक्त दुकान का संचालन संतोष भावसार के द्वारा किया जा रहा है। यहकि, दिनांक 25.05.2022 को नगरपालिका अध्यक्ष नरेन्द्र खोडनिया, नगरपालिका प्रशासन व विद्युत विभाग के अधिकारी ने मिली भगत कर दुकान के बिजली के कनेक्शन को काटने आये और  दुकान को जबरन बिना किसी सुचना के दुकान से बेदखल करने का दवाब बनाया जा रहा है और मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताडित किया जा रहा है।


नगरपालिका अध्यक्ष नरेन्द्र खोडनिया द्वारा नगरपालिका का संचालन उनके भाई दिनेश खोडनिया के स्वामित्व के मॉल में संचालित करवा कर वहा संचालित कर नगरपालिका के किराये के नाम पर सरकारी सम्पति का दुरूपयोग करना चाहते हैं। जिस पर आम जनता द्वारा विरोध करने पर संतोष भावसार की दुकान को बिना किसी सुचना व गैरकानुनी तरीके से बिना किसी विधिक प्रक्रिया के दुकानो से बेदखल करना चाहते है

जिस पर नगरपालिका को ध्वस्त नहीं करने हेतु माननीय उच्च न्यायालय जोधपुर में एक जनहित याचिका दायर की है जिसमे माननीय उच्च न्यायालय जोधपुर ने नगरपालिका को ध्वस्त नहीं करने का आज आदेश दिया है इसके बावजूद भी नगरपालिका अध्यक्ष उक्त दुकानो को ध्वस्त करने व दुकानों का खाली करने हेतु जबरन दबाव बनाया जा रहा है एवं विरोध करने पर झूठे मुकदमों में फंसाने की धमकीया दि जा रही है व जबरन खाली करवाने का दबाव बनाया जा रहा हैं। नगरपालिका अध्यक्ष नरेन्द्र खोडनीया व नगरपालिका प्रशासनिक अधिकारीयों से सुरक्षा प्रदान कर उचित कानुनी कार्यवाही किये जाने हेतु पुलिस थाना सागवाड़ा में संतोष भावसार ने गुहार लगाई है।



Post a Comment

0 Comments