राजस्थान: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते होली और शब-ए-बारात के सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक, पिछले 24 घंटों में 669 नए केस आए सामने


 राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने होली और शब-ए-बारात के लिए गाइडलाइंस जारी की हैंं।  नई गाइडलाइंस के अनुसार होली और शब-ए-बारात पर सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक रहेगी । इसके लिए गृह विभाग ने आदेश जारी किया है । इससे पहले भी कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कई पाबंदिया लगाई थी । राजस्थान में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 669 नए मामले सामने आए हैं, जबकि एक संक्रमित की मौत हुई । इसके बाद राज्य में कुल मामले 3,27,175 हो गए हैं, वहीं मृतकों की संख्या 2808 पहुंच गई है ।



गृह विभाग के आदेश के अनुसार सार्वजनिक स्थानों, ग्राउंड्स, पब्लिक पार्क, बाजार और धार्मिक स्थलों पर किसी भी तरह के आयोजन पर रोक लगा दी गई है । राज्य में भीड़ इक्ट्ठा करने पर रोक लगा दी गई है । ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं । इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई थी । उन्होंने आम जनता को कोविड नियमों का सख्ती से पालन करने की हिदायत दी थी ।

एसपी और क्लेक्टर को लगाई फटगार

सीएम ने कोविड के नियमों का पालन नहीं होने पर दौसा में कलेक्टर और एसपी को सभी के सामने जमकर फटकार लगाई थी । दरअसल पूर्व सरकारी मुख्य सचेतक हरिसिंह महुवा की मूर्ति के अनावरण समारोह में सीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे । समारोह में एसपी कलेक्टर सहित कई मंत्री और विधायक भी मौजूद थे । तभी सीएम ने भाषण के दौरान कलेक्टर-एसपी से कहा कि यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है, लोग पास-पास बैठे हैं ।


उन्होंने कहा कि लोग कोविड के नियमों का पालन करें । ये जिम्मेदारी कलेक्टर और एसपी की है, उन्होंने कहा कि पास-पास बैठे लोगों को दूर-दूर बैठाना चाहिए था । सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना आप दोनों की जिम्मेदारी थी । ये स्थिति तो तब है जब कलेक्टर और एसपी दोनों इस कार्यक्रम में हैं ‌ इन बातों के कारण ही राज्य में कोराना फैल रहा है ।



Post a Comment

0 Comments