रीट परीक्षा की तिथि बदले जाने की मांग,क्रमिक अनशन से शुरू किया

 



रीट परीक्षा की तिथि बदले जाने की मांग,क्रमिक अनशन से शुरू किया

शहीद स्मारक पर जुटे जैन समाज के लोग

40 समाज बंधुओं ने शुरू किया उपवास

अनिश्चित कालीन धरना और क्रमक अनशन शुरू किया


जयपुर

रीट 2021 परीक्षा की तारीख बदलने की मांग फिर उठी है। एक ओर राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने रीट परीक्षा की तिथि में बदलाव करने से स्पष्ट इंकार कर दिया है तो दूसरी ओर इस परीक्षा की तिथि में बदलाव किए जाने की मांग को लेकर जैन समाज में रोष बढ़ता जा रहा है।परीक्षा तिथि में बदलाव किए जाने की मांग को लेकर रविवार को जैन समाज के लोग शहीद स्मारक पर जुटे और अनिश्चित कालीन धरना और क्रमक अनशन की शुरुआत की। रविवार को धरने के पहले दिन 40 समाज बंधु उपवास पर रहे। उनका कहना था कि जब तक तिथि में बदलाव नहीं किया जाता यह जारी रहेगा। जैन समाज के पूनमचंद भंडारी का कहना था कि आजादी के इतने साल के इतिहास में राष्ट्रीय पर्व के दिन कोई परीक्षा आयोजित नहीं की जाती फिर महावीर जयंती पर परीक्षा का आयोजन क्यों किया जा रहा है। यदि इस दिन परीक्षा होती है तो समाज के हजारों विद्यार्थी परीक्षा में शामिल नहीं हो सकेंगे। महावीर जयंती की तारीख पर एग्जाम रखकर राज्य सरकार ने ना केवल समाज की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है बल्कि अहिंसा के पुजारियों की भावनाओं के साथ भी खिलवाड़ कर रही है।ऐसे में हमें मजबूरन अान्दोलन का रास्ता अख्तियार करना पड़ रहा है।।


पूर्व सीएम भी कर चुकी हैं मांग

आपको बता दें कि पूर्व सीएम वसुंधरा राजने भी रीट परीक्षा की तिथि में बदलाव किए जाने की मांग की थी। उन्होंने ट्वीट किया था कि रीट परीक्षा 2021 की तारीख को लेकर कुछ छात्रों ने मुझसे संपर्क किया था।यह परीक्षा महावीर जयंती के दिन आयोजित की जा रही है, जिससे कुछ अभ्यर्थियों पर्व मनाने से वंचित रहना पड़ सकता है।संबंधित विभाग से मेरा अनुरोध है कि छात्रों से समस्याओं को सुनकर तत्काल समाधान की कार्रवाई करें।

विधानसभा में भी उठ चुकी है मांग

इसके पहले विधानसभा में भी इस परीक्षा की तारीख को बदलने की मांग उठ चुकी है। विधानसभा में शून्य काल के दौरान भारतीय जनता पार्टी के विधायक कालीचरण सराफ ने स्थगन प्रस्ताव के तहत रीट परीक्षा की तारीख बदलने की मांग उठाई थी। उन्होंने कहा था कि रीट परीक्षा 25 अप्रैल को होनी है, जिस दिन महावीर जयंती है और इसके अलगे दिन अबूझ अक्षय तृतीया भी पड़ रही है। जिस दिन काफी संख्या में शादियां होती हैं। उन्होंने कहा था कि सरकार को इन बातों का ध्यान रखते हुए रीट परीक्षा इन दोनों तारीखों से पहले या बाद में करानी चाहिए, ताकि सभी अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल हो सकें।




16 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने किया आवेदन


राजस्थान पात्रता परीक्षा के लिए 16 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है।राजस्थान हाईकोर्ट के आदेश के बाद लेवल.1 की परीक्षा के लिए भी अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है।आवेदन की अंतिम तिथि 20 फरवरी 2021 निर्धारित की गई थी। परीक्षा 25 अप्रैल को दो पारियों में आयोजित कीजानी है। पहली पारी में कक्षा 6 से 8 तक के लिए पात्रता परीक्षा सुबह 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक होगी। दूसरी पारी में कक्षा 1 से 5 तक के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा दोपहर 2.30 बजे से शाम 5 बजे तक होगी। दोनों ही पेपर के सभी प्रश्न बहुविकल्पी होंगे।परीक्षा का समय ढाई घंटे का होगा।



Post a Comment

0 Comments