कोरोना से बचाव को लेकर DM ने की बैठक, नियम तोड़ने वाले के खिलाफ कार्रवाई का दिया निर्देश

 



डूंगरपुर जिले में  कोरोना संक्रमण बचाव को लेकर जिला कलेक्टर सुरेश कुमार ओला की अध्यक्षता में बैठक हुई । बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर कृष्णपालसिह चौहान व मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंजली राजोरिया सहित प्रशासन, पुलिस और चिकित्सा विभाग से जुड़े अधिकारियों ने भाग लिया । बैठक में जिला कलेक्टर ओला ने  चिकित्सा सुविधा समन्वय सेल, कोविड अस्पताल समन्वय सेल, सम्पलिंग सर्विस, रेग्यूलेशन सेल, होम आइसोलेशन सेल, आईसी सेल, कंट्रोल रूम एवं सूचना सेल, क्वारेंटीन, वैक्सीनेशन एवं शिकायत निवारण एवं सूचना सेल के बारे में जानकारी लेते हुए आवश्यक निर्देश दिए ।

उन्होने कोविड अस्पताल में चल रहे वैक्सीनेशन के कार्य को पुराना अस्पताल के CHC में किया जाने की जानकारी दी । साथ ही आईसोलेशन किए गए मरीज के स्वास्थ्य में सुधार होने पर उसे होम आईसोलेशन करने एवं वागदरी में आईसोलेशन वार्ड में स्थानान्तरित करने के निर्देश दिए । बैठक में जिला कलेक्टर ने कंटेंटमेंट जोन में बेरीकेट्स लगाने के बारे में जानकारी ली । साथ ही, उन्होंने सेल प्रभारियों से कहा कि संक्रमित व्यक्ति के होम आईसोलेशन करने के बाद परिवार का कोई भी सदस्य बाहर घर से आता है तो, उसके खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए ।

इससे पहले गुरुवार को राजस्थान सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए शुक्रवार शाम छह बजे से सोमवार सुबह पांच बजे तक राज्य में कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट के जरिए कहा, ‘कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए शुक्रवार शाम छह बजे से सोमवार सुबह पांच बजे तक प्रदेश में कर्फ्यू रहेगा । आप सभी से अपील है कि कर्फ्यू के दौरान सरकार का सहयोग करें और कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर का पालन करें ।’

उन्होंने कहा, ‘कर्फ्यू के दौरान पहले से चल रहे नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) में छूट की श्रेणी वाली सेवाओं में फल-सब्जी, दूध, एलपीजी और बैंकिग सेवाओं को भी शामिल किया गया है ।’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘पहले प्रदेश के 17 जिलों में कोरोना के अधिक मामले सामने आ रहे थे लेकिन पिछले कुछ दिनों में सभी जिलों में संक्रमण तेजी से फैला है । अब प्रदेश में कोरोना के 6,658 नए मामले और 33 मौते हुईं हैं । इसलिए वीकेंड कर्फ्यू का सख्त फैसला लिया गया है’

गहलोत ने आगे कहा, ‘अगर समय रहते कठोर कदम नहीं उठाए गए तो स्थिति दूसरे प्रदेशों जैसी विकट स्थिति बन सकती है ।आमजन से अपील है कि पूर्व की तरह एकजुटता दिखाएं और एक-दूसरे का सहयोग करें । राजस्थान सरकार हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार है ।

अधिकारिक सूत्रों के अनुसार राज्य (Rajasthan Bypoll 2021) में 17 अप्रैल को होने वाले तीनों विधानसभा क्षेत्रों सहाडा (भीलवाडा), सुजानगढ (चूरू) और राजसमंद के उपचुनाव में मतदान एवं उससे जुड़ी सम्पूर्ण प्रक्रिया कर्फ्यू से छूट में शामिल रहेंगी ।



Post a Comment

0 Comments