जनता गाइडलाइन का उल्लंघन करें तो कार्रवाई और प्रशासन अगर गाइडलाइन का उल्लंघन करें तो?



रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़े के तहत राजस्थान सरकार की नई गाइडलाइन के अनुसार अगर किसी शादी समारोह या किसी भी कार्यक्रम में 31 से अधिक लोग अगर इकट्ठा होते हैं तो उन पर एक लाख रुपए का जुर्माना और कानूनी कार्रवाई का प्रावधान किया गया है । कोरोना पॉजिटिव मरीज और उनके परिवार जो भोजन बनाने में असमर्थ हैं या गरिब तबके के लोग जिनके पास इस कोरोना काल में भोजन की व्यवस्था नहीं है ऐसे लोगों को डूंगरपुर जिले के सागवाड़ा उपखंड अंतर्गत इंदिरा रसोई में जरूरतमंद लोगों को निशुल्क भोजन उपलब्ध करवाकर एक सराहनीय कार्य किया गया है । इस कार्यक्रम के उद्घाटन के दौरान करीब 40 से पच्चास लोग उपस्थित हुए।  क्या इस कार्यक्रम में कार्यक्रम संचालित करने वालो के द्वारा इतने लोग इकट्ठा करना गाइडलाइन का उल्लंघन नहीं है? क्या सभी गाइडलाइंस आम जनता पर ही लागू होती है? क्या यहां पर कम मात्रा में लोग इस कार्यक्रम को संचालित कर और इंदिरा रसोई का उद्घाटन नहीं कर सकते थे ? एसे कई सवालों के घेरे में इंदिरा रसोई के इस कार्यक्रम को संचालित करने वाले दिखाई दे रहे है । ऐसे में कई तरह के सवाल होते हैं क्या वास्तव में ऐसी कोई महामारी है या नहीं क्योंकि अगर वास्तव में कोई इस तरह की महामारी है तो प्रशासन की आंखों के सामने इस तरह से नियमों की धज्जियां नहीं उड़ती और अगर प्रशासन नियमों की धज्जियां उड़ा रहा है तो आखिर प्रशासन पर गाइडलाइन का जो एक लाख रुपए का जुर्माना है कौन वसुलेगा? 


क्या इस तरह के कार्यक्रम में कोरोना महामारी फैलने का खतरा नहीं? सभी अपने ही लोग और फिर भी इतने लोगों को इकट्ठा कर आखिर जनप्रतिनिधियों ने और प्रशासन ने क्या साबित किया? 

खेर 


राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की 

राज्य में किसी को भूखा सोने नही दूँगा की भावना के अनुरूप जन नायक के जन्म दिन के अवसर पर अप्रवासी भारतीय दानवीर क़ुतुबुद्दीन गढ़ी  उनके भाईं मोहम्मद हुसैन गढ़ी वाला व नरेंद्र खोड़निया एवं दिनेश खोड़निया ने घोषणा की हे की कोरोना महामारी के कारण कई परिवारों के  सामने भोजन का संकट हो गया है मुख्यमंत्री की भावना के अनुरूप क्षेत्र में एक व्यक्ति को भी भूखा नही रहने देने के लिए इंदिरा गांधी रसोई योजना के तहत चल रहे सामुदायिक भवन की भोजन शाला में अगले दो माह तक प्रतिदिन एक हज़ार के हिसाब से  60 हज़ार लोगों को भोजन कराने के लिए  दोनो परिवारों ने 251000/-, 251000/- के चेक इंदिरा रसोई में जमा करवा दिए हैं ।

जिन परिवारों में कोरोना पोसिटिव है ओर घर में आयसोलेट है उनके परिवार के सदस्य आकर  टिफ़िन  ले  जा सकेंगे व अन्य सभी ज़रूरत मंद व्यक्ति सामुदायिक भवन में रोज़ सुबह  8.30 से 2 बजे तक एवं शाम को 5 से 8 बजे तक इंदिरा रसोई में आकर भोजन कर सकेंगे ।

नगर पालिका अध्यक्ष नरेंद्र खोड़निया ने बताया की रोजाना भोजन के समय हमारे दोनो परिवार के प्रतिनिधि वहाँ  मदद में रहेंगे उन्होंने नगर के सभी पार्षदों समाज के प्रतिष्ठित व्यक्तियों समाज सेवियों युवाओं से आग्रह किया हे की आप अपने वार्ड में ज़रूरत मंद व्यक्ति तक सूचना देकर भोजन हेतु आमन्तरित करे ।



ज़िला कोंग्रेस अध्यक्ष दिनेश खोड़निया ने कहा की नगर में दवाई कराने आने वाले  सभी व्यक्तियों को भोजन उपलब्ध होगा ।

इस कार्यक्रम में जिला कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश खोडनिया, नगरपालिका अध्यक्ष नरेंद्र खोडनिया, उपाध्यक्ष राजू भाई शेख,सहीत नगरपालिका सागवाड़ा के लगभग सभी पार्षद व उपखंड अधिकारी राजीव द्विवेदी, , नगरपालिका अधिशाषी अभियंता दुर्गेश रावल, पुलिस उप अधीक्षक निरंजन चारण, तहसीलदार डॉ मयूर शर्मा सहित अन्य कई जन प्रतिनिधि उपस्थित थे।  


Post a Comment

0 Comments