जानबूझकर मामले को विवादित बनाने की कोशिश, आखिर क्या चाहतीं हैं नगरपालिका अतिक्रमण शाखा सागवाड़ा?

 


डूंगरपुर जिले के सागवाडा थानांतर्गत इंदिरा पुत्री हरीश ननोमा उम्र 28 वर्ष निवासी गामड़ा चारणीय ने थाना सागवाड़ा में उपस्थित होकर रिपोर्ट दी है कि गामड़ा चारणिया गांव में उनकी खेती की जमीन में फसल है व खेत के चारों और बाढ़ है । कुछ लोगो द्वारा बाढ़ को तोड़कर अंदर पशु चढ़ाने से फसल खराब हो रही है । गांव के कुछ लोग हुक्का ननोमा, सोमा ननोमा, रमण ननोमा कोपड़ा के लोग हैं । उनके पशु हमारे खेत में छोड़ कर जाते हैं जिससे हमारी फसल नष्ट हो रही है।


इंदिरा ननोमा ने बताया कि इस संबंध में गामड़ा चारणीय के सरपंच लोकेश ननोमा से भी कई बार शिकायत की जा चुकी है । लेकिन इस संबंध में कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।


इस संबंध में पुलिस थाना सागवाड़ा प्रशासन ने आश्वासन दिया कि इस संबंध में ग्राम पंचायत गामड़ा चारणीय के सरपंच को सुचित कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी ।


इधर सागवाड़ा नगर पालिका अंतर्गत लोहारिया तालाब सौंदर्यीकरण की योजना के तहत लोहारिया तालाब में पानी की आवक के लिए सफाई अभियान और योगेंद्र गिरी की तरफ से आने वाले पानी के लिए मार्ग को साफ करवाने के उद्देश्य से नगर पालिका द्वारा जेसीबी लगाकर खुदाई का कार्य किया जा रहा है।

लेकिन नगरपालिका सागवाड़ा अतिक्रमण शाखा ने आनन-फानन में खातेदारी जमीन में जेसीबी चलवा कर इस कार्य को विवादित बना दिया।


प्राप्त जानकारी के अनुसार राजू रोत निवासी सागवाड़ा जिनकी लोहारिया तालाब के किनारे पर खातेदारी जमीन है आज सुबह जब लोहारिया तालाब सौंदर्यीकरण योजना के तहत नगर पालिका सागवाड़ा अतिक्रमण शाखा जेसीबी लेकर वहां पहुंची तो उन्होंने राजू रोत की खातेदारी जमीन को खुदवा कर मिट्टी निकालने का कार्य प्रारंभ कर दिया । जब इसकी खबर राजू रोत को मिली तो उन्होंने मौके पर आकर इस कार्य को रुकवाने का निवेदन किया । लेकिन जब कार्य रुकता हुआ नहीं दिखा तो उन्होंने नगरपालिका अध्यक्ष नरेंद्र खोडनिया से संपर्क किया।


आपको बता दें कि इससे पहले बीटीपी विधायक रामप्रसाद डिंडोर ने पिछली नगर पालिका बैठक में आदिवासियों की जमीन को हड़पने का नगरपालिका पर आरोप लगाया था और नगर पालिका अध्यक्ष नरेंद्र खोडनिया ने इस बात का स्पष्टीकरण देते हुए कहा भी था कि एक भी आदिवासी की जमीन को नगर पालिका द्वारा बेदखल करने का कोई उद्देश्य नहीं है और ना ही कभी किया जाएगा । फिर भी नगरपालिका अतिक्रमण शाखा सागवाड़ा ने नरेंद्र खोडनिया नगर पालिका अध्यक्ष को यह झूठी खबर दी कि लोहारिया तालाब में चल रही जेसीबी पर व आसपास के लोगों ने पथराव किया है। पथराव की खबर जब हमें प्राप्त हुई तो हम तुरंत ही घटनास्थल पर पहुंचे लेकिन वहां पर स्थिती विपरीत दिखाई दी । किसी ने कोई पथराव की स्थिति पैदा नहीं की थी जबकि अतिक्रमण शाखा ने अपनी गलती को छुपाने के लिए इस तरह की बात बताकर नगर पालिका अध्यक्ष नरेंद्र खोडनिया को गलत खबर दी। और जानबूझकर मामले को विवादित बनाने की कोशिश की आखिर इसका जिम्मेदार कौन?


नगर पालिका सागवाड़ा कि अतिक्रमण शाखा अभी तक यह तय नहीं कर पा रही है कि कहां पर है अतिक्रमण है और कहां पर खातेदारी।

खातेदार राजू रोत ने जब नगर पालिका अध्यक्ष नरेंद्र खोडनिया को सूचना दी तो उन्होंने तुरंत छानबीन कर उक्त कार्य को रुकवाने के आदेश दिए और खातेदार को न्याय दिलाया । फिलहाल लोहारिया तालाब पर तालाब सुंदरकरण का कार्य जारी है और शीघ्र ही नगर पालिका सागवाड़ा सभी तालाबों के सुंदरीकरण के लिए कार्य करने जा रही है।

लेकिन नगर पालिका सागवाड़ा की अतिक्रमण शाखा पर एक बार फिर से सवालिया निशान खड़ा हो रहा है कि क्या नगरपालिका सागवाड़ा की अतिक्रमण शाखा और नगर पालिका सागवाड़ा के बोर्ड के बीच आपसी तालमेल नहीं है?




Post a Comment

0 Comments