वार्ड पंच है अनपढ़,रिपोर्टर है बेवकूफ सिर्फ भिलुडा ग्राम पंचायत के सरपंच है समझदार...

 


ग्राम पंचायत भिलुडा तह सागवाड़ा जिला डूंगरपुर


सफाई व्यवस्था और दो साल के अंदर बने पुल के क्षतिग्रस्त होने पर उसकी पुन: मरम्मत करवाने की मांग और गांव में असमाजिक तत्वों के बोलबाले को लेकर जब उन्ही की ग्राम पंचायत की वार्ड नंबर 6 की मेंबर ने आवाज उठाई तो इस आवाज के उपर अमल करने के विपरित ग्राम पंचायत सरपंच ने न्युज चैनल पर ही सवालिया निशान खड़ा कर दिया । अपने युट्युब आईडी से कमला नाम की आईडी से अपने ही गांव के वार्ड पंच को अनपढ़ बता दिया और न्यूज़ रिपोर्टर को बेवकूफ कहने तक नहीं चुके । 


उन्होंने कमेंट्स में लिखा है कि खेल के लिए स्कूल में बजट आता है तो स्कूल का अध्यक्ष कौन होता है ? और अगर एसा है तो रिपोर्टर को क्यों नहीं बताया । जब उनसे हमारे रिपोर्टर ने लाईव कवरेज के दौरान सवाल किया तो उन्होंने यह कबुल किया कि यह मैदान जहां बास्केटबॉल खेला जाता है वह खुर्द बुर्द है और नया मैदान बनाया जाना प्रस्तावित है फिर क्यों रिपोर्टर को बेवकूफ कह रहे हैं । क्या भिलुडा ग्राम पंचायत के सरपंच अकेले पढ़ें लिखे हैं ? बाकि उनके वार्ड पंच अनपढ़ है? रिपोर्टर बेवकूफ है? ग्राम पंचायत भिलुडा के सरपंच अकेले ही समझदार है? 


लोक तंत्र के चोथे स्तंभ को बेवकूफ कहने वाले भिलुडा के सरपंच प्रवीण डामोर ने हमारे संवाददाता को रात को दस बजे के करीब कॉल भी किया और वाट्सएप पर मेसेज कर डिलीट भी कर दिया । 

अब पुछता है वागड़ की क्या ग्राम पंचायत भिलुडा के सरपंच लोगों की सेवा करने हेतु सरपंच बने हैं या पैसा कमाने के लिए?


जब उन्हें अवगत करवाया गया कि गांव में शराबी शराब की खाली बोतलें खेल मैदान में डालते हैं तो इसकी जिम्मेदारी सरपंच की नहीं है उन्हें इस काम का पेसा मिलेगा तो वो यह काम करेंगे । वाह सरपंच साहब वाह । धन्य है आपकी सोच ।


रिपोर्टर तो बेवकूफ है लेकिन भिलुडा की जनता तो आपकी है और आपसे एसी उम्मीद नहीं करती है । आपको इसलिए चुना है कि आप उनकी दुख सुख की घड़ी में साथ दे और उनकी और गांव कि व्यवस्था बनाने में सहयोग करें लेकिन आप तो अपने वार्ड पंच को ही अनपढ़ ठहरा रहे हैं । 




Post a Comment

1 Comments

  1. निश्चित रूप से सफाई की ज़िम्मेदारी ग्राम पंचायत की है और वेतन मिलने पर काम करने वाला बयान सही नही ।।ज़िम्मेदार अगर ऐसी बाते करेंगें तो जनता किसे पूछे या उम्मीद रखे 🙏
    और पत्रकारिता समाज और सिस्टम का अभिन्न अंग है वो अपना काम कर रहे है उनको भला बुरा कहने से समस्याओं का कही भी समाधान नही होना है ।
    पत्रकारिता को सलाम और समर्थन साथ ही ज़िम्मेदारों से उम्मीद 🙏

    ReplyDelete