बढ़ती महंगाई से जनता त्रस्त, हुक्मरान मस्त- भगोरा केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर बरसे पूर्व सांसद

 


बढ़ती महंगाई से जनता त्रस्त, हुक्मरान मस्त- भगोरा

केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर बरसे पूर्व सांसद

डूंगरपुर। बढ़ती महंगाई से जनता त्रस्त है जबकि हुक्मरान अपनी मस्ती में मस्त है देश की जनता को अच्छे दिनों का सपना दिखाने वालों के मुंह पर ताला लगा हुआ है यह उदगार पूर्व एआइसीसी सचिव व पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा ने बढ़ती महंगाई पर चिंता जताते हुए व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि सत्ता में आने से पूर्व भाजपा नेताओं ने जनता को महंगाई खत्म करने, बेरोजगारों को नोकरियां देने के लंबे चौड़े सब्ज़बाग दिखाए थे, लेकिन अब बढ़ती महंगाई पर भाजपा नेताओं ने अपने होंठ सिल लिए हैं।



भगोरा ने  कहा कि गरीब की थाली से दालें गायब हो रही हैं और उसके लिए दो जून की रोटी जुटाना मुश्किल होता जा रहा है, जबकि भाजपा नेताओं में प्रधान मोदी के गुणगान की होड़ लगी है। पूर्व यूपीए सरकार के खाद्य वस्तुओं के दामों को पूरी तरह से नियंत्रित रखा गया था, जबकि अभी के हालात चार गुना से ज्यादा बढ़ गए हैं और भाजपा के लोगों ने भी महंगाई पर चुप्पी साध ली है, जिससे साफ साबित होता है कि मोदी सरकार और भाजपा के लोगों को आम जनता की कोई परवाह नहीं है, भाजपा मात्र सत्ता पाने के लिए लोगों को गुमराह करती है।
पूर्व सांसद ने कहा कि मोदी सरकार जब पेट्रोल के दाम 4-5 रुपए बढ़ाने के बाद जब एकाध रुपए कम कर देती है, तो भाजपा नेता खुशी से उछलते हुए अच्छे दिन आ जाने के बयान दागने लगते हैं पड़ोसी देशों में भारत से आधी कीमत पर पेट्रोल डीजल बिक रहा है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय मार्केट में पेट्रोल के दामों में भारी कमी आने के बावजूद मोदी सरकार देश के लोगों को वाजिब कीमतों पर पेट्रोल मुहैया नहीं करवा रही।
उन्होंने कहा कि खाद्य वस्तुओं के दामों में आया उछाल यह साबित करता है कि मोदी सरकार ने आम आदमी के हितों की बलि देकर चंद औद्योगिक घरानों को लूट की खुली छूट दे रखी है।
मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल की उपलब्दियों की वाह-वाही लूट रही है जबकि 6 वर्षों के कार्यकाल में आम आदमी की सुध लेने और वायदे निभाने की बजाए कांग्रेस शासित मुख्यमंत्रियों के खिलाफ षड्यंत्र रचने में समय बिता दिया है, इससे साफ साबित होता है कि एनडीए और भाजपा का लोकतंत्र में विश्वास नहीं रह गया है केवल सत्ता प्राप्त करना ही इनका लक्ष्य है जबकि जनता की परेशानी से इनको कोई लेना-देना नही।
पूर्व सांसद ने कहा कि पेट्रोल-डीजल व गैस के दामाें में लॉकडाउन के दाैरान लगातार सातवीं बार वृद्धि के लिए भाजपा की केंद्र सरकार जिम्मेदार है।
वैश्विक स्तर पर क्रूड ऑयल के दामों में 66 प्रतिशत तक की कमी हुई है। केंद्र सरकार ने लोगों को फायदा पहुंचाने के बजाय एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी है देश मे पेट्रोल 105 रु बिक रहा है डीजल के दाम लगभग बराबर है रसोई गैस के भी दोगुने दाम वसूले जा रहे है खाद्य तेल भी दोगुने दामो में मिल रहे है मगर आज देश की जनता की भाजपाइयों को याद नही आ रही जो 60 रु पेट्रोल होने पर प्रधानमंत्री को चूड़ियां भेजते थे।
केंद्र की मोदी सरकार जनता को कोई राहत नही पहुंचा रही यही नही देश की सम्पतियों को उधोगपतियों के हाथ बेचकर कांग्रेस सरकार में अर्जित की गई धरोहरों को भी नीलाम कर दिया।
भगोरा ने कहा कि केंद्र सरकार ने गत लॉक डाउन के दौरान 20 लाख करोड़ का जो पैकेज की घोषणा की थी वो अच्छे दिनों की तरह विलुप्त हो चुका है और लोग इसे स्वप्न समझ भूलने लगे है।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने समय रहते महंगाई पर नियंत्रण नही पाया तो कांग्रेस आमजन के लिए आंदोलन का रुख अख्तियार करेगी।



Post a Comment

0 Comments