सुंदरकांड से जीवन सुंदर बनता है -शास्त्रीजी महाराज, मानस मंडल सेवा संस्थान का सुंदर काण्ड पाठ

 

सुंदरकांड से जीवन सुंदर बनता है -शास्त्रीजी महाराज

मानस मंडल सेवा संस्थान सागवाड़ा का संगीतमय सुंदरकांड  पाठ व भजन संध्या का आयोजन तिरुपति कॉलोनी  रामधाम देवल मेड़ता धाम के पीठाधीश्वर रामनिवास शास्त्री व प्रभुदास धाम सागवाड़ा के संत उदयराम महाराज के सानिध्य में हुआ। कार्यक्रम के प्रारम्भ में गणपति पूजन खेमराज भाटिया ने व सरस्वती वंदना जीतू कलाल के द्वारा करने के पश्चात सुंदरकांड की चौपाइयों का गान प्रीतम पंचाल व विनोद गर्ग द्वारा की गई।


कार्यक्रम के दौरान किशोर भावसार ,जुगल सोनी,चेतन गोगरोत, सुरेश भट्ट ने गणपति गणेश मनाए मोरे देवा..बाबा भोलेनाथ मेरी नैया को उबारो...वो काल करेगा महाकाल के आगे...ओ मनवा रे जीवन है एक संग्राम सहित कई भजन प्रस्तुत किये।विभिन्न वाद्ययंत्रों पर चिराग गुप्ता,जिग्नेश,अक्षय,धार्मिक, भगू दर्जी, नवनीत ने संगत दी।हनुमान चालीसा नरेश भट्ट द्वारा की गई। आरती यजमान महेश पुरुषोत्तमदास आहूजा परिवार द्वारा उतारी। रामनिवास शास्त्री ने कहा कि सुंदरकांड हमारे  जीवन को सुंदर बनाने का कांड है। सुंदरकांड से हमे बड़ो का,संतो का आदर करना व उनके बताए मार्ग को अपनाकर जीवन मे आत्मसात करने से जीवन सफल हो जाता है।

हम कितना भी बड़ा काम करे परन्तु मन अभिमान,अहंकार नई लानी चाहिए। सन्त उदयराम महाराज ने मानस मंडल के द्वारा घर घर सत्संग रूपी जो अलख जगाई जा रही है उसकी सराहना करते हुए कहा हमे अपने जीवन का कुछ पल प्रभु स्मरण में जरूर लगाना चाहिए। इस अवसर पर हेमन्त भावसार,राजेन्द्र भट्ट,भरत भट्ट,गोविंद दर्जी,ओमप्रकाश सुथार, भूपेश चौहान,हरिश्चन्द्र जैन,गोपाल पंचाल, सौरभ भट्ट मौजूद थे।

Post a Comment

1 Comments