सागवाड़ा का रुपए डबल करने के नाम पर मुंबई में कोटा के लोगों से 1100000 रुपए हड़पने वाला शातिर बदमाश गिरफ्तार


 डूंगरपुर जिले के सागवाड़ा थाना अंतर्गत आशीष जैन पिता स्वर्गीय सतीश चंद्र जैन उम्र 51 साल निवासी ओबेरॉय सदन ऑपोजिट मंगलायतन बाल मंदिर स्कूल रोड भीमगंज मंडी कोटा राजस्थान ने पुलिस थाना सागवाड़ा पर उपस्थित होकर एक लिखित रिपोर्ट इस आशय की पेश की कि उसके मित्र उन्मेश सेनवी  पिता तुलसीराम उम्र 36 वर्ष निवासी A 202 लंबोदर पार्क दत्ता वर्ली कलवा वेस्ट थाने मुंबई के फोन नंबर 98191 59669, पर 77270 51615 और 78749 38508 पर 3 साल पहले फोन आया था । तब उन्होंने कहा था कि उसका नाम मावजी है और वह सागवाड़ा राजस्थान से बोल रहा है बहुत सारी सिद्धियां जानता है और लोगों की आर्थिक समस्याओं का निवारण करता है । उस समय इस फोन नंबर वाले व्यक्ति पर कोई ध्यान नहीं दिया और उसके बाद मई 2021 में उन्होंने पून इसी नंबर से फोन किया कि आज से 3 साल पहले मैंने आपको इसी नंबर पर कॉल किया था और यह कहा था कि मैं बहुत सारी सिद्धियां जानता हूं और लोगों की आर्थिक समस्याओं का निवारण करता हूं । तब यह जानकारी प्रार्थी मेरे मित्र आशीष जैन जो कोटा में है उनको दी और अपने फोन नंबर से इस नंबर को कॉन्फ्रेंस कॉल में लेकर बात कराई तब उन दोनों ने उनसे पूछा कि गुरुदेव आप क्या चमत्कार करते हैं और क्या सिद्धि आपके पास है ? तब उन्होंने कहा कि मैं आपको यह पूर्ण जानकारी फोन पर नहीं दे सकता आप दोनों को एक बार सागवाड़ा राजस्थान आना पड़ेगा और अपने आंखों से देखना पड़ेगा । इस पर दोनों ने उसका नाम पूछा तो उन्होंने अपना नाम मावजी पिता मेगा ननोमा निवासी लक्ष्मणपुरा सागवाड़ा का होना बताया है इस पर दोनों उस व्यक्ति के झांसे में आकर दिनांक 29 2021 को शाम को सागवाड़ा आ गए और जिल होटल में ठहर गए। शाम को मावजी का फोन आया कि वह सुबह उनको लेने भूपेश को भेज रहे हैं । दिनांक 3 /9/ 2021 सुबह 10:30 पर 11:00 के बीच भूपेश नाम का व्यक्ति जो 78749 38508 नंबर पर 80 0369 6710 पर कॉल करके कहा कि मुझे मावजी ने तुम्हें लेने के लिए भेजा है और कुछ पूजा की सामग्री व विमल का थैला लाने को कहा है। वह हमने लाकर अपने पास रख लिया तब भूपेश का फोन आते ही वह दोनों उसकी लाल कलर की मोटरसाइकिल के पीछे अपनी गाड़ी में अपनी कार से भूपेश के पीछे चल दिए तो मावजी के घर पर लेकर आया वहां पर मावजी ने अपने गुरु से मिलवाया । गुरुजी के पास कोई और दो लोग बैठे हुए थे । उन्होंने उनका पालघर महाराष्ट्र से होना बताया जो अपने साथ 1100000 रुपए लेकर आए थे उसके बाद वह दोनों गुरुजी के सामने बैठ गए और दोनों व्यक्ति साइड में बैठे हुए थे । गुरु जी ने हम चारों को अपनी जेब से कुछ पैसे निकालने को कहा हमने उनके कहने पर किसी ने 10 किसी ने 20 किसी ने 50 कि नोट निकालने और गुरु जी ने जो विमल का थैला खाली करके जिसमें पूजा की सामग्री हम लेकर आए थे उस में फूल के पत्ते तोड़कर विमल के थैले में डाली और उसमें से बहुत सारे नोट 10 ,20 और 500, 500 के 2000 नोट जमीन पर फेंक दिए । वह सारे नोट भूपेश व उसके साथी सभी घरवाले मौजूद थे जिसमें उनकी बहू बेटियां सहित उन्होंने इकट्ठा की और जो पालघर से दो व्यक्ति आए थे उसके बैग में रख दिए फिर कहा कि इस बैग में ताला लगाकर चाबी मुझे दे दो और तुम बिना पीछे देखे सीधे अपने होटल की ओर निकल जाओ तब उन दोनों के जाने के बाद हम दोनों ने उन गुरुजी से माव जी वह भूपेश के सामने पूछा कि आप यह कैसे काम करते हो तब उन्होंने बताया कि लक्ष्मी से लक्ष्मी का आह्वान होता है और लक्ष्मी से लक्ष्मी बढ़ती है और यह कार्य में सिद्धि होती है जो मैं 11 लाख का आह्वान जिनके लिए होता है उनके घर जा कर पूजा करता हूं ताकि उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार हो जाए 3/9/2021 से 30/9/2021 इस दौरान कहीं बार उन्होंने हम दोनों को दोनों नंबर से कई बार कॉल किए और पूछा गया कि कब आने वाले हो करीब डेढ़ साल से कोरोना महामारी के कारण हमारा बिज़नेस में घाटा हो गया था । उनके बहकावे में आ गए और हम पर कर्जा हो गया था हमारी माली हालत खराब होने व कर्जा से छुटकारा पाने की नियत से हम उनके बहकावे में आ गए और बड़ी कठिन परिस्थितियों में हम दोनों 1100000 लेकर दोनों यहां उनके निवास स्थान सागवाड़ा गए 30/9/2021 को सवेरे 10:30 से 11:00 के बीच हम दोनों 1100000 रुपए लेकर तैयार थे तब उनका फोन आया कि तुम माताजी मंदिर के कोने पर आ जाओ वहां तुम्हारा कोई मेरा सेवक मिल जाएगा ।  उनका सेवक स्कूटी पर हम दोनों को लेने आया हम अपनी कार उसकी स्कूटी के पीछे और हम अपनी गाड़ी से पीछे चले गए और हम उनके निवास स्थान पर पहुंचे जहां माव जी ने पूरे घरवाले मौजूद थे अब की बार निवास स्थान की जगह पहली जगह से अलग थी । वहां पर भी गुरुजी ने पूजा लगा रखी थी और कहां उन्होंने कहा कि अपनी जेब से कुछ रुपए निकालो तो हम दोनों ने एक ₹100 व ₹50 का नोट निकाला तब उन्होंने एक विमल के थैले में से सो पचास के कई नोट निकाले और कहा कि यह नोट अब दान कर दो जो हम 1100000 रुपए लेकर आए थे । मावजी ने अपने हाथ में लेकर गुरु जी को दिए और गुरु जी ने लाल कपड़े में बांधकर सफेद थैली में डाल दिए और वह सफेद थैली एक टीन के डिब्बे में रखकर ताला लगा दिया और चाबी रख ली और कहा कि गायत्री माता को घी का आवान करके तुम्हारे पीछे आता हूं तुम अपनी गाड़ी से यह डिब्बा लेकर चलो और पीछे मुड़कर मत देखना । हम दोनों अपनी गाड़ी लेकर और वह डिब्बा लेकर निवास स्थान कोटा आ गए आने के बाद रात को दिनांक 30 नौ 2021 को उनका फोन आया कि उनके जोड़ीदार गुरु जो निंबाहेड़ा में है उनकी आकस्मिक मृत्यु हो गई है तो मैं अभी 3 दिन तक नहीं आ पाऊंगा । उसके बाद हम लोग उनके फोन करके संपर्क करने की काफी कोशिश की । गुरु जी ने एक बार कहा कि मैं नवरात्रि के पहले दिन कोटा आऊंगा और आपकी अधूरी पूजा करूंगा । नवरात्रि के पहले दिन से उन्होंने कॉल उठाना बंद कर दिया और अब भी बात हुई तो यह बताया कि गुरु जी की तबीयत ठीक नहीं है और वह वेंटिलेटर पर हैं । और वह आ नहीं सकते तब हमने व डब्बा खोलकर देखा तो उसमें हमारे 1100000 रुपए जो उन्होंने लाल कपड़े में रखे थे वह गायब थे । उसकी जगह उस कपड़े में गुलाबी कलर के प्लेन कागज मौजूद थे । तब हम शौक हो गए और समझ गए कि हमारे साथ पूरी तरह से धोखाधड़ी हुई है और हम फौरन सागवाड़ा के लिए रवाना हो गए और आज दिनांक 2021 को दोपहर यहां आकर मावजी के निवास स्थान पर पहुंचे तो उन्होंने हम दोनों को देख लिया और वहां से फरार हो गया मावजी भूपेश व उनके गुरु जी तथा दो अन्य लोग जो महाराष्ट्र के बता रहे थे वह मावजी के सभी घरवालों के एक राय हम सलाह होकर एक सोची समझी साजिश करके हमारे से ठगी की है और रुपए डबल करने के नाम पर हमसे 1100000 रुपए ठग लिए हैं।

जिस पर पुलिस थाना सागवाड़ा ने प्रकरण पंजीबद्ध कर तत्काल मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया व घटना के संबंध में उच्चाधिकारियों को हालात से अवगत करवाया पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी जिला डूंगरपुर द्वारा थाना अधिकारी सुरेंद्र सोलंकी को उक्त घटना का शीघ्र खुलासा करने के निर्देश दिए गए । जिस पर पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी, अनिल मीणा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, भोमाराम व्रताधिकारी सागवाड़ा के सुपर विजन में थाना अधिकारी सुरेंद्र सोलंकी के नेतृत्व में राजेंद्र सिंह एएसआई, हरि सिंह कांस्टेबल, भूपेंद्र सिंह, यशपाल सिंह, गणेश लाल की टीम का गठन कर प्रकरण में मुलजिम की प्रारंभिक जांच कर पता किया तो मावजी पिता मेगा ननोमा निवासी लक्ष्मणपुरा सागवाड़ा के घर पर पता किया तो मावजी घर पर होना बताया गया उसके द्वारा फ्रॉड कॉल करना बताया गया जिस पर टीम द्वारा अथक प्रयास कर तलाश शुरू की एवं मुखबिर से संपर्क किया और सरगर्मी से तलाश शुरू की एवं मुखबिर से संपर्क करने पर गुरुजी धनाराम उर्फ डगला राम पिता गंगाराम मेघवाल उम्र 54 वर्ष निवासी जोजावर रोड धनतला पुलिस थाना सिरियारी जिला पाली राजस्थान हाल आकाशगंगा अपार्टमेंट हिरण मगरी सेक्टर 14 पुलिस थाना सवीना जिला उदयपुर राजस्थान का नाम बदमाश इस प्रकरण की घटना करता है जिस पर पता करने पर धनराज अभियुक्त अपने घर से फरार हो गया था जिस पर टीम द्वारा अभियुक्त धनराज आकाशगंगा अपार्टमेंट हिरण मगरी सेक्टर 14 पुलिस थाना सवीना जिला उदयपुर को थाने लाकर पूछताछ की तो घटना करना स्वीकार किया जिस पर अभियुक्त को गिरफ्तार किया जा कर न्यायालय में पेश कर अभियुक्त का 4 दिन का पीसी रिमांड लिया गया है घटना के जानकारी के लिए पूछताछ जारी है।



Post a Comment

0 Comments