Btp को दबाने कि कोशिश मे बिजेपी और कांग्रेस हुई एक जुट,

 

पंचायत समिति और जिला परिषद चुनाव रिजल्ट के बाद दोनो बडी राजनीतिक पार्टी बिजेपी और कांग्रेस मे खलबली मच गई है । क्यु कि तिसरे मोर्चे के रुप मे बिटीपी ने दोनो बडी पार्टीयो कि स्थिती खराब कर दि है, कई जगह स्थितीया ये बन गई है कि ना तो कांग्रेस पार्टी और ना ही बिजेपी प्रधान और जिला प्रमुख बना सकती है । बिटीपी के लिए भी स्थिती कई जगह पर पुर्ण बहुमत नही मिलने से दुसरे दलो का सहारा लेने जैसी है । वेसे देखा जाए तो कांग्रेस और बिजेपी लगातार हर बार क्षैत्रिय स्तर पर बिटीपी का विरोध करती रही है लेकिन अशोक गहलोत कि राज्य मे सरकार बचाने मे बिटीपी की भुमिका अहम रही थी एसी स्थिती मे कई जगह पर कांग्रेस बिटीपी का समर्थन कर सकती है , अगर कांग्रेस बिटीपी का समर्थन करती है तो आने वाले समय मे हो सकता है मतदाता कांग्रेस को मत नही दे । क्युकि कांग्रेस पार्टी और बिजेपी मे कोई दुर दुर तक तालमेल नही है फिर भी प्रतापगढ़ जिले में पहली बार दलोट पंचायत समिति में बीटीपी के विरोध में प्रधान की दावेदारी के लिए बीजेपी कांग्रेस  एकजुट होने वाले है एसी खबर आ रही है बीजेपी पार्टी के नेता आधी रात 8 दिसंबर 2020 को कॉन्ग्रेस विधायक रामलाल के घर पहुचे है और संभावना बताई जा रही है कि कांग्रेस और बिजेपी मिल कर पंचायत समिति का प्रधान चुनेगी ।
अब दोनो विरोधी पार्टी एक जुट हो जाती है तो इस क्षैत्र मे टक्कर सिधे सिधे बिजेपी और बिटीपी कि रहती है क्युकि एक तरह से बिजेपी और कांग्रेस का विलय होने पर मतदाता भी असमंजस्य मे है कि वो बिजेपी को वोट करे या कांग्रेस को । अब स्थिती यह दिखाई पड रही है कि कुछ समय के बाद बिजेपी और कांग्रेस दोनो दलो को दोनो पार्टी के मतदाता के लिए एक और पार्टी का एलान करना पडेगा । क्यु कि कांग्रेस और बिजेपी का सामंजस्य लंबे समय तक चलना मुस्किल दिखाई देता है । इधर बहुत कम समय मे बिटीपी ने इस क्षैत्र मे अपनी अच्छी पहचान बना ली है और सबसे बडी बात यह है कि बिटीपी मे कई सवर्ण जाती के लोग भी जुड गए है अगर बिटीपी सवर्ण के हीतो का ध्यान रखते हुए चुनाव लडे और सवर्ण का भी साथ ले तो आने वाले समय मे इस क्षैत्र के लिए दोनो बडी पार्टीयो के लिए मुसीबत खडी हो सकती है ।


वही डूंगरपुर में बीटीपी के बढते जनाधार को रोकने के लिए कांग्रेस और बीजेपी में डील हो सकती है। पहले विधानसभा और अब पंचायती राज चुनाव में बीटीपी के बेहतर प्रदर्शन को लेकर दोनों ही दलों में बैचेनी बढ़ी हुई है। ऐसे में अब सुनने में यह आ रहा है कि भाजपा और कांग्रेस में किसी खास फार्मूले पर बातचीत हो रहीं है। भाजपा जहां अपने दम पर आसपुर में वहीं कांग्रेस सिर्फ बिछीवाड़ा में ही प्रधान बना रहीं है। जिलाप्रमुख के लिए कांग्रेस और भाजपा के पास स्पष्ट बहुत नहीं है। ऐसे में यदि पंचायती राज में बीटीपी के प्रधान और जिलाप्रमुख आ जाते है तो दोनों ही बड़े दलों को राजनीतिक नुकसान उठाना पड़ सकता है। साथ ही दोनों ही दलों में यदि कोई बीटीपी से समर्थन लेता है देता है तो भी नुकसान उठाना पड़ता है। इधर, सोशयल मीडिया पर सुबह से ही यहीं चल रहां है कि कांग्रेस और भाजपा को आपस में समर्थन दे देना चाहिए। इधर, जानकारों की माने तो समर्थन के एक फार्मूलें को रखा गया है जिसपर चर्चा चल रहीं है। हालांकि इस संबंध में भाजपा या कांग्रेस के किसी बड़े नेता ने कोई पुष्टि नहींं की है 

एक नजर चुनाव रिजल्ट पर

दोवड़ा पंचायत 19 सीटो में 
बिटीपी 12
कांग्रेस 05
बिजेपी 01
निर्दलीय 01
यहा पर बिटीपी का प्रधान बनना तय

सिमलवाडा पंचायत समिति 19 सीटों मेंसे
कांग्रेस 06
बिजेपी 07
बिटीपी 06
यहा पर स्थिती स्पष्ट नही है ।

डूंगरपुर 21 सीटो मेसे 
कॉंग्रेस 09
बिटीपी 07
बिजेपी 05
यहा पर स्थिती स्पष्ट नही है।

सागवाड़ा 29 सीटों मेसे 
बिटीपी 13
बीजीपी 12
कॉंग्रेस 04
यहा पर बिजेपी का प्रधान बनना तय । बिजेपी कांग्रेस मे गठन बंधन होने कि खबर है ।

गलियाकोट  17 सीटों मेसे 
बिटीपी 09
बीजीपी 07
कॉंग्रेस 01
यहा बिटीपी का प्रधान बनना तय ।

आसपुर 17 सीटों मेसे
बीजीपी 10
कॉंग्रेस 03
बिटीपी 04
यहा पर बिजेपी का प्रधान बनना तय ।

चिखली पंचायत 17 सीटो मेसे 
Btp 11
विजीपी 04
कॉंग्रेस 01
पेंडिंग 01
यहा पर बिटीपी का प्रधान बनना तय।

साबला  पंचायत समिति 17 सीटों मेसे
Btp 08
भाजपा 08
कांगेस 01
स्थिती स्पष्ट नही है।


पंचायत समिति प्रधान का चुनाव कल
पंचायत राज चुनाव 2020 के तहत पंचायत समिति के चुनाव परिणाम मंगलवार को घोषित होने के बाद गुरूवार को प्रधान का चुनाव होगा। रिटर्निंग अधिकारी ने बताया कि प्रातः 10 बजे से पंचायत समिति के सभागार में निर्वाचित सदस्यों की बैठक प्रारंभ होगी। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार प्रधान पद के लिए प्रातः 11 बजे तक नाम निर्देश पत्र प्रस्तुत किए जा सकेंगे। प्रस्तुत नामांकन पत्रो की जांच साढे 11 बजे से होगी एवं चुनाव नही लडने वाले अभ्यार्थी दोपहर 1 बजे तक अपना नाम वापस ले सकेंगे। चुनाव होने की स्थिति में संबंधित उम्मीदवारो को चुनाव चिन्ह का आवंटन एवं चुनाव लडने वाले अभ्यार्थियों की सूची तैयार की जाएगी। आवश्यकता होने पर अपरान्ह 3 बजे से 5 बजे तक निर्वाचित सदस्य मतदान करेंगे। पश्चात मतगणना की जाएगी।




कोरोना को मात देने के लिए मास्क वितरण और जनचेतना कार्यक्रम । 

सेवा के क्षेत्र में एम एम बी ग्रुप की तरह हर स्वयंसेवी संस्थान सरकार और जनता को साथ दे:- खानु खान वक़्फ़ बोर्ड चेयरमैन राजस्थान सरकार
डूंगरपुर।। कोरोना एक भयंकर महामारी है इससे बचने के लिए सरकार द्वारा दी गई गाइड लाइन मास्क पहनना, आवश्यक दूरी बनाए रखना और आवश्यकता होने पर ही घर से बाहर निकलना जैसे निर्देशों की अक्षरशः पालना करना आमजन के लिए अति आवश्यक है तभी हम कोरोना को हरा सकते है। वर्ष भर अलग अलग क्षेत्रों में जरूरतमन्दों की सेवा में हर पल तैयार रहने वाली संस्था एम एम बी ग्रुप इन दिनों हज़रत किबला मस्तान बाबा के 27 वे उर्स के मुबारक मौके को लेकर जरूरतमन्दों की सेवा हर वर्ष की भांति इस बार भी कर रही है।सोमवार को पूर्व राज्यमंत्री असरार एहमद खान साहब के मुख्य आतिथ्य में 50 जरूरतमन्दों परिवारों को एक माह का निःशुल्क राशन वितरित किया गया।एम एम बी ग्रुप द्वारा बीते कल मंगलवार को जिला कारागृह में बंदियों को मास्क,केले,बिस्किट और गर्म कंबल उप अधीक्षक मुकेश गायरी के मुख्य आतिथ्य में वितरित किये गए। कोरोना से लड़ने के लिए आज बुधवार को सरकार और जनता की खिदमत में नगरपरिषद के साथ मिलकर खानु खान वक़्फ़ बोर्ड चेयरमैन राजस्थान सरकार, पूर्व राज्यमंत्री असरार एहमद खान और नगरपरिषद कमिश्नर पुरोहित के नेतृत्व में करीब छह सौ मास्क राहगीरों को निःशुल्क वितरित कर आमजन में कोरोना से बचने का संदेश दिया।एम एम बी ग्रुप की और से राहगीरों को निःशुल्क मास्क वितरण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वक़्फ़ बोर्ड राजस्थान के चेयरमैन जनाब खानु खान साहब ने कहा कि महामारी बीमारी कोरोना इन दिनों अपने चरम काल पर है सरकार आमजन की सुरक्षा के लिए दिन रात प्रयासरत है आमजन को चाहिए की सरकार की गाइड लाइन का पूरी तरह से अनुसरण करें जिस तरह से एम एम बी ग्रुप कोरोना काल मे और इन दिनों जनता की सेवा कर सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ दे रही है वैसे ही अन्य सेवा के क्षेत्र में काम कर रही संस्थाओं को कार्य कर सरकार और जनता दोनों की मदद करनी चाहिए।तहसील चौराहे पर एम एम बी ग्रुप की तरफ से आयोजित निःशुल्क मास्क वितरण कार्यक्रम के मौके पर  इमरान मुलतानी,आसीफ मुलतानी,बाबूलाल प्रजापत और भारतेन्दु पडया समेत कई गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।एम एम बी ग्रुप के सदर नूर मोहम्मद मकरानी ने बताया कि कल हज़रत किबला मस्तान बाबा की दरगाह पर ग्रुप द्वारा करीब 300 मास्क जायरीनों को वितरित किये जायेंगे।



Post a Comment

0 Comments